मुख्यमंत्री ने किया वन विकास निगम सॉफ्टवेयर के ई-ऑक्सन पोर्टल का शुभारम्भ

देहरादून: मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में उत्तराखण्ड वन विकास निगम सॉफ्टवेयर के ई-ऑक्सन पोर्टल का शुभारम्भ किया।

ई-ऑक्सन ईगवर्नेंस की दिशा में वन विभाग का यह अच्छा प्रयास: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि ईगवर्नेंस की दिशा में वन विकास निगम का यह एक अच्छा प्रयास है। वन उपजों एवं प्रकाष्ठ के लिए ई-ऑक्सन प्रक्रिया से वन विकास निगम के कार्यों में तेजी आयेगी। प्रकाष्ठ एवं वनोपज क्रय करने वालों को ई-ऑक्सन  प्रक्रिया होने से अनावश्यक परेशानी भी नहीं होगी। ई-ऑक्सन की प्रक्रिया से वन विकास निगम के राजस्व में वृद्धि होगी।

मुख्यमंत्री ने किया वन विकास निगम सॉफ्टवेयर के ई-ऑक्सन पोर्टल का शुभारम्भ

मुख्यमंत्री ने किया वन विकास निगम सॉफ्टवेयर के ई-ऑक्सन पोर्टल का शुभारम्भ

ईगवर्नेंस की दिशा में राज्य सरकार का विशेष फोकस है

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि ईगवर्नेंस की दिशा में राज्य सरकार का विशेष फोकस है, आॅनलाईन माध्यम से लोगों को हर सुविधा मिले इस दिशा में लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। आॅनलाईन प्रक्रिया से लोगों को अनावश्यक सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाने पड़ते हैं एवं समय तथा धन दोनों की बचत होती है। कार्यों में तेजी और पारदर्शिता लाने एवं समय की बचत के लिए डिजिटल माध्यमों का अधिकतम उपयोग जरूरी है।

उत्तराखण्ड वन विकास निगम के अध्यक्ष श्री सुरेश परिहार ने कहा कि उत्तराखण्ड वन विकास निगम द्वारा वनों के संवर्द्धन, पर्यावरण संरक्षण, लोगों को उच्च गुणवत्तायुक्त प्रकाष्ठ, उपखनिज का उचित दरों पर आपूर्ति में योगदान किया जा रहा है। निगम द्वारा अपने 30 प्रभागों के माध्यम से वन क्षेत्रों में वैज्ञानिक वन प्रबंधन के दृष्टिगत सूखे, उखड़े, गिरे वृक्षों से प्रकाष्ठ का उत्पादन, उपखनिज चुगान एवं प्रकाष्ठ के विक्रय की कार्यवाही की जा रही है।

Chief Minister inaugurated e-Oxon portal of Forest Development Corporation Software

Chief Minister inaugurated e-Oxon portal of Forest Development Corporation Software

उत्तराखण्ड वन निगम के प्रबंध निदेशक श्री विनोद कुमार ने कहा कि इस डिजिटल पहल से वनोपज एवं प्रकाष्ठ के विक्रय में प्रगति आयेगी। देशभर से क्रेता ई-ऑक्सन  के माध्यम से घर बैठे ही प्रकाष्ठ का क्रय कर सकते हैं। ई-ऑक्सन  कार्यवाही से प्रकाष्ठ की नीलामी की कार्यवाही से कार्यप्रणाली में और अधिक तेजी आयेगी। इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से अब वनोपज एवं प्रकाष्ठ के विक्रय की कार्यवाही ई-ऑक्सन  के माध्यम से की जायेंगी।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के आईटी सलाहकार श्री रविन्द्र दत्त, अपर प्रमुख वन संरक्षक श्री डीजे के. शर्मा, डा. शमीर सिन्हा, मुख्यमंत्री के विशेष सचिव डाॅ. पराग मधुकर धकाते, उत्तराखण्ड वन विकास निगम के अपर प्रबंध निदेशक श्री के.एम. राव, महाप्रबंधक श्री निशान्त वर्मा, क्षेत्रीय प्रबंधक श्री आकाश वर्मा, श्री इन्द्र सिंह नेगी, श्री उमेश त्रिपाठी, चीफ प्रेजक्ट काॅर्डिनेटर श्री हिमांशु चन्द्रा, श्री शोभित वर्मा आदि उपस्थित थे।

Print Friendly, PDF & Email
Share