हरिद्वार के परीक्षा केन्द्रों का कुलपति द्वारा किया गया औचक निरीक्षण, नकलविहीन परीक्षा कराने हेतु संस्थानों को दी कड़ी हिदायत

0
1011
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

हरिद्वार के परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण

नकलविहीन परीक्षा कराने हेतु संस्थानों को दी कड़ी हिदायत

हरिद्वार क्षेत्र में नकल को प्रभावी ढंग से रोकने हेतु कुलपति प्रो0 एम0 एस0 रावत द्वारा स्वंय कमान संभालते हुए लगभग आधा दर्जन परीक्षा केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया गया, निरीक्षण के दौरान सुनील नौटियाल, प्रभारी प्रशासन, विश्वविद्यालय भी उपस्थित रहे। उन्होंने नकलविहीन परीक्षा कराने हेतु संस्थानों को कड़ी हिदायत दी।

सर्वप्रथम प्रथम पाली प्रातः 07ः30 बजे से 10ः00 बजे कुलपति द्वारा एस0बी0एम0 डिग्री काॅलेज, सुलतानपुर का औचक निरीक्षण किया गया जिसमे बी0ए0 समाजशास्त्र प्रथम पेपर में 29 परीक्षार्थियों में से 02 परीक्षार्थी अनुपस्थित थे, कुलपति द्वारा परीक्षा केन्द्र में कई खामियां जैसे ड्यूटी चार्ट पर हस्ताक्षर नहीं थे, पेपर सुव्यवस्थित थे। परीक्षा केन्द्र अध्यक्ष को कुलपति द्वारा कडे निर्देश दिये गये कि भविष्य में इस प्रकार की अनियमितता होने पर परीक्षा केन्द्र को निरस्त कर दिया जाएगा।

रूब्राज इंस्टिट्यूट आॅफ एडंवास स्टडीस, हरिद्वार में प्रथम पाली in में सभी व्यवस्थायें समुचित पायी गयी। उसके उपरान्त हिंद वैली संस्थान का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण दौरान पाया गया कि मुख्य सड़क मार्ग पर कहीं भी संबधित संस्थान के नाम का बोर्ड नहीं लगाया गया था। परीक्षार्थियों को भवन की पांचवी मंजिल में खुले बरामदे में बैठाकर परीक्षा कराई जा रही थी ड्यूटी एवं अन्य आवश्यक व्यवस्थायें समुचित रूप से नहीं पायी गयी, संबधित संस्थान में बी0ए0 समाजशास्त्र की परीक्षा चल रही थी।

कुलपति द्वारा उक्त अव्यवस्थाओं हेतु हिन्द वैली के प्राचार्य को कड़ी फटकार लगाते हुए भूतल में परीक्षा करवाने व संस्थान के मुख्य सड़क मार्ग पर संस्थान के नाम का बोर्ड लगवाने हेतु निर्देशित किया गया यदि संस्थान द्वारा उपरोक्त कार्यवाही नहीं की जाती है तो वि0वि0 कड़ी कार्यवाही करने हेतु बाध्य होगा।

कुलपति द्वारा फेरूपुर डिग्री काॅलेज का आकस्मिक निरीक्षण किया गया जहाॅ पर बी0ए0 प्रथम वर्ष समाज-शास्त्र की परीक्षा चल रही थी जिसमें 44 परीक्षार्थियों में से 02 परीक्षार्थी अनुपस्थित थे। कुलपति द्वारा संस्थान के प्राचार्य को परीक्षा स्ट्रांग रूम को अध्यावधिक रखे जाने के निर्देश दिये गये।

सम्बन्धित परीक्षा केन्द्र में कोई भी अनियमितता प्रकाश में नहीं आयी। इसके पश्चात एच0ई0सी0 गु्रप संस्थान में औचक निरीक्षण किया गया जिसमें बी0ए0 समाजशास्त्र प्रथम पेपर में 23 परीक्षार्थी तथा एम0एस0सी0, गणित में 01 परीक्षार्थी परीक्षा दे रहा था। संस्थान में परीक्षा सम्बन्धी सभी व्यवस्थायें चाक-चैबंद पायी गयी। परीक्षा अभिलेखों को अत्यन्त ही सुव्यवस्थित रूप से रख-रखाव किया गया था इसके लिए कुलपति द्वारा एच0ई0सी0 गु्रप संस्थान की भूरी-भूरी प्रशंसा की गयी।

कुलपति द्वारा पं0ल0मोहन शर्मा परिसर ऋषिकेश में आयोजित हो रही परीक्षा की द्वितीय पाली 11ः30 से 02ः00 बजे में औचक निरीक्षण किया गया जहाॅ पर परीक्षा सम्बन्धी सभी व्यवस्थायें चाक-चैबंद पायी गयी।
कुलपति द्वारा बताया गया कि विश्वविद्यालय की नकलविहीन परीक्षा कराने हेतु उड़नदस्ते की पांच टीमों द्वारा विभिन्न परीक्षा केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया जा रहा है जिसमें हरिद्वार व रूड़की क्षेत्र के परीक्षा केन्द्रों हेतु दो उड़नदस्ते टीमों का गठन किया गया है जो लगातार महाविद्यालय एवं संस्थानों का निरीक्षण कर उत्कृष्ठ कार्य कर रहे हैं इसके साथ ही विश्वविद्यालय के परीक्षा नियन्त्रक एवं कुलसचिव द्वारा भी लगातार विभिन्न परीक्षा केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया जा रहा है।

यदि किसी भी परीक्षा केन्द्र में कोई भी अनियमितता व नकल पाये जाने पर संबधित संस्थान का परीक्षा केन्द्र भी निरस्त कर अन्यत्र स्थानान्तरित कर दिया जाएगा जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी संबधित संस्थान की होगी।

Comment