स्वामी विवेकानंद की शिक्षा और आदर्श सदैव रहेंगे प्रसांगिक- डा. आलोक त्रिपाठी 

0
56

Table of Contents

यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

स्वामी विवेकानंद की शिक्षा और आदर्श सदैव रहेंगे प्रसांगिक- डा. आलोक त्रिपाठी 

हर्षोल्लास से मनाया गया राष्ट्रीय युवा दिवस।

स्वामी विवेकानंद जी की जयंती के अवसर पर हुए अनेक संस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित। 

सिविल जज (सीनियर डिवीजन) डॉक्टर आलोक राम त्रिपाठी रहे मुख्य अतिथि।

कार्यक्रम की अध्यक्षता की साहित्यकार सोमवारी लाल सकलानी ‘निशांत’ ने की।

मुख्य वक्ता के रूप में राकेश चंद्र बहुगुणा तथा विशिष्ट वह अतिथि के रूप में राजपाल सिंह मियां हुए कार्यक्रम में शामिल।

वैदिक मेडिकल मैनेजमेंट कालेज और वीआईएचएम चंबा ने नेहरू युवा केंद्र, टिहरी के सहयोग से करवाया कार्यक्रम। 

चंबा, राष्ट्रीय युवा दिवस और स्वामी विवेकानंद की जयन्ती के अवसर पर वैदिक मेडिकल मैनेजमेंट और द विज़न इंस्टिट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट संस्थान के छात्र- छात्रों के द्वारा अनेक प्रकार के युवा कार्यक्रम आयोजित किए गए। सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ विवेकानंद जी के व्यक्तित्व और कृतित्व पर विचार उनकी शिक्षाओं पर प्रकाश डाला गया।

स्वामी विवेकानंद की शिक्षा और आदर्श सदैव रहेंगे प्रसांगिक- डा. आलोक त्रिपाठी 
हर्षोल्लास से मनाया गया राष्ट्रीय युवा दिवस। मुख्य अतिथि ने कार्यक्रम में उपस्थित समूह और छात्र-छात्राओं को नागरिक कर्तव्यों, नशा मुक्ति, शत प्रतिशत मतदान आदि की शपथ दिलवायी। अपने संबोधन में कहा कि युवा वर्ग का देश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान है और माननीय प्रधानमंत्री जी की थीम विकसित भारत के संकल्प को पूर्ण करने में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है।

विवेकानंद जी के शिक्षाओं और आदर्शों पर उन्होंने प्रकाश डाला। कहा कि वर्तमान समय में भी विवेकानंद जी की समन्वयवादी और विश्व कल्याणकारी शिक्षाएं प्रासंगिक है। अपने अध्यक्षीय भाषण में साहित्यकार सोमवारी लाल सकलानी’निशांत’ ने आयोजकों, अतिथियों, छात्र-छात्राओं और युवाओं को स्वामी विवेकानंद के अद्वैत के बारे में अवगत करवाया और “देख!युवा कैसे बढ़ते हैं आगे” अपनी कविता का भी वाचन किया। मुख्य वक्ता राकेश बहुगुणा ने विस्तार से स्वामी जी की शिक्षाओं का उल्लेख किया।

द वैदिक मेडिकल मैनेजमेंट कॉलेज के निदेशक योगेश रमोला ने अपने संस्थान की उपलब्धियां के बारे में अवगत कराया साथ ही वी आई एच एम के निदेशक प्रदीप कोठारी ने मंंच संचालन करते हुए अनेक शैक्षिक, नैतिक और सामाजिक बिंंदुओं को उजागर किया।

कार्यक्रम में वरिष्ठ अधिवक्ता राजपाल सिंह मिंया ने नशे के विरोध चलाई जा रही मुहिम के बारे में अपने विचार प्रकट किये। इस मौके पर नेहरू युवा केंद्र से संजीव मिश्रा, विधिक सहायता से गुड़ी रावत अनीता, स्वाति दीपक आदि उपस्थित थे।

Comment