सालियर रुड़की में महिला सशक्तिकरण, महिलाओं के कानूनी अधिकार व संरक्षण पर किया गोष्ठी का आयोजन

0
72
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

सालियर रुड़की में महिला सशक्तिकरण, महिलाओं के कानूनी अधिकार व संरक्षण पर किया गोष्ठी का आयोजन

रुड़की। राउमा विद्यालय सालियर में महिला सशक्तिकरण महिलाओं के कानूनी अधिकार व संरक्षण पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य वक्ता सुपीर्म कोर्ट की अधिवक्ता श्रीमती उषा पन्त कुकरेती जी थी।

उन्होंने कहा Every thing is possibile in this world इस ससार में सबकुछ कठोर साधना लक्ष्य के प्रति समर्पण से पाया जा सकता है। Impossibile को I m possibile मानने वाले लोग ही कामयाब होते है। वो बताती हैं वे भी साधारण परिवेश से आती हैं जब वो 30 साल पहले नौकरी में आई तो लोग तरह की बाते करते थे पर उन्होंने हमेशा अपने लक्ष्य को ध्यान में रख कर नकरात्मक बातो पर ध्यान नही दिया।

उन्होंने कहा No pains No Gains . बिना कष्ट उठाये कोई भी चीज नही प्राप्त की जा सकती है। किसी व्यक्ति की कपडे पैसे उसको बड़ा नही बनाते उसकी सोच ही उसको महान बनाती है। हमें हमेशा सकरात्मक ऊर्जा को प्राप्त करना है तथा कानून का पालन करना है साथ ही कानून का द्रुप्रयोग नही करना चाहिये। महिलाओ को अपने पक्ष के कानूनो का गलत फायदा नही उठाना चाहिये। वे आगे उदाहरण देती हुये महिला पर्वतरोही सन्तोष यादव को उदाहरण दिया ग्रामीण परिवेश से घरवालो के विरोध के बावजूद निकल कर उन्होंने अपनी पढ़ाई दिल्ली में पूरी की तत्पश्चात् माउट एवरेस्ट को दो बार विजित किया।

उन्होंने कई सफल संघर्ष करके अपना मुकाम बनाने वाली महिलाओं की चर्चा की । महिलाओं के अधिकार अधिनियम कानूनो के साथ उन्होंने बालिकाओं को हर हालत में शिक्षा ग्रहण करने का आह्वान किया।

कार्यक्रम का आयोजन संचालन रविन्द्र ममगाई ने किया । इस अवसर पर श्रीमती पूनम त्यागी, अर्चना सैनी व श्रीमती सायमा मैडम इत्यादि उपस्थित थे।

Comment