श्री देव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय परिसर ऋषिकेश में ‘मेरे सपनों का भारत-2047’ विषय पर युवा संवाद कार्यक्रम एवं प्रतियोगिताओं का आयोजन

0
28
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

श्री देव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय परिसर ऋषिकेश में ‘मेरे सपनों का भारत-2047’ विषय पर युवा संवाद कार्यक्रम एवं प्रतियोगिताओं का आयोजन

ऋषिकेश:   पंडित ललित मोहन शर्मा श्री देव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय परिसर ऋषिकेश के राष्ट्रीय सेवा योजना प्रकोष्ठ, भारत सरकार के युवा एवं खेल मंत्रालय के तत्वावधान एवम एन सी सी के सयुक्त तत्वाधान में युवा संवाद कार्यक्रम के अंतर्गत ‘मेरे सपनों का भारत-2047’ विषय पर युवा संवाद कार्यक्रम एवं स्लोगन, पोस्टर निबंध, प्रतियोगिता का आयोजन किया गया कार्यक्रम की अध्यक्षता परिसर के निदेशक प्रो महावीर सिंह रावत द्वारा की गई । कार्यक्रम का शुभारम्भ कार्यक्रम के मुख्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलित एवं

छात्र छात्राओं द्वार सरस्वती वंदना कर किया गया। युवाओं को भविष्य के भारत का सूत्रधार बताते हुए प्रो रावत ने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा, हमारे युवाओं को तय करना है कि भविष्य का भारत कैसा होगा। ये आपको ही तय करना है और आपको ही इसे साकार भी करना है। विकसित भारत का निर्माण, गुलामी की सोच से मुक्ति, विरासत पर गर्व, एकता एकजुटता व नागरिक कर्तव्य। युवाओं में जो प्रतिभा भारी है उन को निखारने का अवसर प्रदान किया जाए। अच्छे परिणाम के साथ बच्चे आगे बढ़े और देश का नाम रोशन करें।

मुख्य वक्ता राजनीति विज्ञान विभाग के विभाग अध्यक्ष प्रो डी के पी चौधरी ने अपने संबोधन में कहा भारत विभिन्न जातियों, पंथों और धर्मों के लोगों के घर होने पर गर्व करता है। देश अपनी समृद्ध संस्कृति और विविधता में एकता के लिए जाना जाता है। पिछले कुछ दशकों में इसने विभिन्न उद्योगों में तेजी देखी है। हालांकि, हमें अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है।

यहाँ कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जिन्हें हमें एक आदर्श राष्ट्र बनाने के लिए काम करने की आवश्यकता है:वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारीएवं युवा संवाद कार्यक्रम के संयोजक डॉ. अशोक कुमार मैन्दोला ने छात्र छात्राओं से संवाद करते हुए कहा “जब राष्ट्र निर्माण की बात आती है तब देश और दुनिया में सभी का ध्यान युवाओं की ओर ही जाता है। युवा माने तेज, युवा माने सपना, युवा माने नयी ऊर्जा, युवा माने नयी सोच, युवा माने नए लक्ष्य, युवा माने भविष्य, युवा माने उम्मीद की किरण, युवा माने सूर्य। सूर्य खुद जलकर दुनिया को प्रकाशमय करता है।

हमारा युवा भी तप कर देश के निर्माण हेतु आगे बढ़ रहा है।”पर्यावरणविद् और नगर निगम ऋषिकेश के स्वच्छता के ब्रांड एंबेसडर विनोद जुगलान ने कहा युवा शक्ति राष्ट्र की महा शक्ति है बस हमें तकनीकी विकास के साथ अपनी संस्कृति और प्रकृति के संरक्षण संवर्धन के लिए आगे आएं।उन्होंने मोबाईल के अत्यधिक प्रयोग के दुष्प्रभावों पर चर्चा कर युवाओं को जागरूक किया।

उन्होंने कहा कि हमें दूसरों की भाषाओं को सीखने से पहले अपनी मातृभाषा के संरक्षण की भी चिंता करें।संस्कृति और प्रकृति के संरक्षण पर बोलते गए जुगलान ने कहा कि जलवायु परिवर्तन के दुष्प्रभावों को रोकने के लिए प्रकृति का सम्मान करना होगा।

यह तभी सम्भव है जब हम प्रकृति सम्मत आचरण को अपने व्यवहार में ढालने का प्रयास करेंगे।प्रो अधीर कुमार ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा भारत ने दुनिया भर में कई विधाओं में खुद को प्रसिद्ध किया है और आज तक के इतिहास में भारत के लिए कई गर्व के क्षण आए हैं। फिर भी मेरी मातृभूमि, भारत के बारे में मेरा एक सपना है मेरा देश एक महान राष्ट्र बने और कई अन्य देशों के लिए मार्गदर्शक बने।

इस अवसर पर दीपचंद, प्रिया कृशाली, अखिलेश भंडारी, सुमित राणा, गौरव राणा, अर्चना चौहान, प्रगति, निशिता कात्यायनी शुक्ला, अंजली सुषमा, माधुरी,सोनी, साक्षी, पीयूष गुप्ता, ललित,पवन, रवि सिंह, सलोनी, सुहानी, समीर, दीक्षा सिंह ,पूजा पांडे, स्वाति उपस्तिथ रहे।

Comment