श्रीमद्भागवत कथा सुनने मात्र से ही जीवन धन्य हो जाता है: डॉ. दुर्गेश आचार्य जी महाराज

श्रीमद्भागवत कथा सुनने मात्र से ही जीवन धन्य हो जाता है: डॉ. दुर्गेश आचार्य जी महाराज
श्रीमद्भागवत कथा सुनने मात्र से ही जीवन धन्य हो जाता है: डॉ. दुर्गेश आचार्य जी महाराज
play icon Listen to this article

श्रीमद्भागवत कथा सुनने मात्र से ही जीवन धन्य हो जाता है। यह बात डॉ. दुर्गेश आचार्य जी महाराज ने विकासखंड प्रतापनगर के पट्टी उपली रमोली मुखमाल गांव में जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा के परिवार द्वारा आयोजित श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का रसपान कराते हुए कही।

श्रीमद्भागवत कथा सुनने मात्र से ही जीवन धन्य हो जाता है: डॉ. दुर्गेश आचार्य जी महाराज
श्रीमद्भागवत कथा सुनने मात्र से ही जीवन धन्य हो जाता है: डॉ. दुर्गेश आचार्य जी महाराज

हिमालय के संत डॉ दुर्गेश आचार्य जी महाराज ने कहा श्रीमद्भागवत कथा मात्र सुनने से ही जीवन धन्य हो जाता है। उन्होंने कहा की चौरासी लाख योनि के बाद मानव जीवन मिलता है इस जीवन का अपना एक महत्व है हमें इस जीवन को धन्य बनाने के लिए ज्ञान धर्म अध्यात्म और सत्कर्म करना चाहिए मानव जीवन बार-बार नहीं मिलता है ।

श्रीमद्भागवत कथा के पूर्व कलश यात्रा मुखमाल गाँव से नागनी माता मंदिर सिलोड़ा तक गांव के सभी देवता, सेमनागराज भगवान का ढोल दमाऊं हुनियानाग देवता नागनी माता की डोली सहित टिहरी परिवार के प्रतिनिधि ठाकुर भवानी प्रताप साह, ब्लाक प्रमुख प्रदीप चंद रमोला,प्रधान अनिता देवी, मुखमाल गाँव की प्रधान श्रीमती मीना देवी, कुल पुरोहित बेदप्रकाश भट्ट डॉक्टर धीरेंद्र महर, प्रधान सुरेंद्र पवार, जयपाल चौहान, महावीर राणा, रमेश पवार बद्री सिंह पवार सहित बड़ी संख्या श्रद्धालु शामिल हुए। आज कथा में सोन्दी गांव के लोग बड़ी संख्या में उपस्थित हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here