श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत खिर्सू एवं थलीसैंण ब्लॉक में हॉट मिक्स तकनीकी से सड़कें बनाई जायेगी: डॉ. धन सिंह रावत

208
नर्सिंग अधिकारी के पदों पर स्थाई निवासी होंगे नियुक्तः डा. धन सिंह रावत

श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत खिर्सू एवं थलीसैंण ब्लॉक में हॉट मिक्स तकनीकी से बनेंगी सड़कें

शासन ने तीन सड़कों के डामरीकरण को जारी किये 20 करोड़

श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत खिर्सू एवं थलीसैंण ब्लॉक में हॉट मिक्स तकनीकी से सड़कें बनाई जायेगी। इसके लिये शासन स्तर से लगभग 20 करोड़ की धनराशि जारी कर दी गई है। खिर्सू ब्लॉक में जहां दो सड़कों का निर्माण हॉट मिक्स तकनीकी से किया जायेगा, वहीं थलीसैंण ब्लॉक में इस तकनीकी से एक सड़क बनाई जायेगी। लगभग 29 किलोमीटर की इन तीनों सड़कों का निर्माण पीएमजीएसवाई द्वारा किया जायेगा। सड़कों के निर्माण में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जायेगा, अगर गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की कोताही बरती गई तो संबंधित कार्यदायी संस्था के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जायेगी।

कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने मीडिया को जारी एक बयान में बताया कि राज्य सरकार प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाने में जुटी है ताकि आम लोगों को आवागमन में आसानी हो सके। उन्होंने कहा कि श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र में नवीन सड़कों के निर्माण के साथ-साथ पुरानी एवं क्षतिग्रस्त सड़कों का सुदृढ़ीकरण किया जायेगा। प्रथम चरण में खिर्सू ब्लॉक की दो जबकि थलीसैंण ब्लॉक की एक सड़क को हॉट मिक्स तकनीकी से तैयार किया जायेगा। इसके लिये शासन स्तर से लगभग 20 करोड़ की धनराशि जारी कर दी गई है।

डॉ. रावत ने बताया कि खिर्सू ब्लॉक के अंतर्गत 9.76 किलोमीटर के खंडाह-ढ़ामकेश्वर-भेलगढ-कठुली मोटर मार्ग के निर्माण को 668 लाख तथा 7.69 किलोमीटर के चौबट्टाखाल-हुल्कीखाल से कठुली मोटर मार्ग के निर्माण हेतु 548 लाख की धनराशि जारी कर दी गई है। जबकि थलीसैंण ब्लॉक के अंतर्गत 11.35 किलोमीटर के चौखाल-जसपुरखाल-भंडेली मोटर मार्ग के निर्माण हेतु 759 लाख की धनराशि जारी कर दी गई है। डॉ. रावत ने बताया कि तीनों मोटर मार्गों का निर्माण शीघ्र ही पीएमजीएसवाई द्वारा किया जायेगा। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों द्वारा लम्बे समय से इन सड़कों के डामरीकरण की मांग की जा रही थी।

डा. रावत ने कहा कि विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत सड़कों के निर्माण एवं सुधारीकरण में किसी भी प्रकार की कोताही नही बरती जायेगी और गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जायेगा। सड़कों की गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की कमी पायी गई तो संबंधित कार्यदायी संस्था के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जायेगी।

Comment