वोटर आईडी आधार से लिंक करने को लेकर ADM ने की राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों से बैठक

वोटर आईडी आधार से लिंक करने को लेकर ADM ने की राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों से बैठक
play icon Listen to this article

जनपद में 30 सितम्बर 2022 तक जारी रहेगा वोटर आईडी आधार लिंक कार्य

ADM/उप जिला निर्वाचन अधिकारी रामजी शरण शर्मा ने राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों /प्रतिनिधियों के साथ एक बैठक कर मतदेय स्थलों के युक्तिकरण/पुनिर्निधारण-पुर्नव्यवस्थापन, वोटर आईडी आधार से लिंक करने आदि विषय पर चर्चा की। साथ ही जनपद के जीर्ण-शीर्ण मतदेय स्थलों के परिवर्तन सम्बन्धी जानकारी दी गयी।

वहीं एडीएम ने सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी एसएल शाह को निर्देश दिये कि वोटर आईडी आधार लिंक हेतु जनपद की सभी नगर पंचायत/पालिकाओं में प्रचार वाहन के माध्यम से प्रचार-प्रसार कर लोगों तक सूचना पहुंचायी जाय। उन्होंने बताया कि वोटर आईडी आधार लिंक कार्य जनपद में 30 सितम्बर 2022 तक जारी रहेगा, अभी लगभग पचास प्रतिशत से अधिक कार्य हो चुका है। उन्होने राजनैतिक दलों के उपस्थित प्रतिनिधियों से कहा की कि यदि किसी मतदेय स्थल सम्बन्धी कोई भी समस्या, विचार/जानकारी हो तो पत्र व्यवहार कर निर्वाचन कार्यालय को अवगत करायें।

बैठक में एडीएम ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग एवं मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तराखण्ड, देहरादून द्वारा विधान सभा निर्वाचक नामावली का 01 जनवरी, 2023 की अर्हता तिथि के आधार पर विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण तथा पुनरीक्षण से पूर्व गतिविधियों के चरणबद्ध कियान्वयन हेतु निर्धारित कार्यक्रमानुसार मतदेय स्थलों के युक्तिकरण/पुनिर्निधारण-पुर्नव्यवस्थापन के सम्बन्ध में जनपद में अवस्थित विधान सभा निर्वाचन क्षेत्रान्तर्गत विलय हेतु चिन्हित/प्रस्तावित कुल 22 मतदेय स्थल जिनका बिलय कर 11 मतदेय स्थल बनाये जाने हैं।

मुख्य निर्वाचन आयोग के निर्देशों के क्रम में ऐसे दो मतदेय स्थल जो एक ही भवन पर स्थापित हैं की जांच एवं सत्यापन के पश्चात विलय कर मतदेय स्थलों के प्रस्ताव उपलब्ध कराये जाने हेतु जनपद के समस्त उप जिलाधिकारियों (रिटर्निंग ऑफिसरों) को निर्देशित किया गया। जिसके क्रम में अपने अपने विधान सभा निर्वाचन क्षेत्रों के ऐसे वर्तमान मतदेय स्थलों की जांच सत्यापन के पश्चात उप जिलाधिकारी घनसाली द्वारा 09-घनसाली (अ.जा) विधान सभा निर्वाचन क्षेत्रान्तर्गत अवस्थित मतदेय स्थल संख्या 153 एवं 154 राजकीय उच्च प्राथमिक भवन पूर्वी एवं पश्चिमी भाग का बिलय संबंधी प्रस्ताव तैयार कर उपलब्ध कराया गया है। बिलय के पश्चात इस मतदेय स्थल पर मतदाताओं की संख्या 1299 हो जायेगी जो आयोग द्वारा नियत मानक 1500 से कम है। शेष 10 देवप्रयाग, 11-नरेन्द्रनगर 12 प्रतापनगर, 13 टिहरी विधान सभा में अवस्थित एक मतदेय स्थल भवन पर स्थापित एक से अधिक मतदेय स्थलों का विलय का प्रस्ताव प्राप्त नही हुआ। मतदेय स्थलों के विलय के संबंध में उपरोक्त उप जिलाधिकारयों (रिटर्निंग ऑफिसर) के द्वारा अवगत कराया गया है कि मतदेय स्थलों का बिलय करने पर मतदाताओं की संख्या अधिक हो जाने के कारण देर रात तक मतदान होने की सम्भवना है पर्वतीय क्षेत्र होने के कारण मतदेय स्थलों के अनुभाग दूर एवं आवागमन के पहाड़ी रस्ते होने के कारण व्यवहारिक दृष्टिकोण से भी उक्त मतदेय स्थलों का विलय किया जाना उचित नहीं होगा साथ ही बिलय के पश्चात मतदाताओं की अधिकता होने से एक ही बीएलओ को कार्य करने में भी कठिनाईयों का सामना करना पड़ेगा।

बैठक में भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधि दिनोश डोभाल ने तहसील टिहरी में आधार कार्ड बनाने में आ रही समस्या से एडीएम को अवगत कराया, जिस पर एडीएम ने बताया कि आधार कार्ड बनाये जाने के लिए प्राप्त 7 लोगों के आवेदन यू.आई.डी.आई. दिल्ली भेजे गये, जिनमें एक स्वीकृत हुआ है।

बैठक में एडीएम ने ईडीएम हरेन्द्र शर्मा को निर्देश दिये कि महाविद्यालय नई टिहरी के छात्रों से सम्पर्क कर इच्छुक छात्रों को सरकारी भवन में आधार कार्ड बनाने का कार्य दिया जाए। इस अवसर पर जय प्रकाश पाण्डेय, देवेन्द्र नौडियाल सहित निर्वाचन कार्यालय के कार्मिक उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here