वैदिक मेडिकल मैनेजमेंट संस्थान चंबा के वार्षिकोत्सव में दी गई रंगारंग लोक सांस्कृतिक की प्रस्तुतियां

110
वैदिक मेडिकल मैनेजमेंट संस्थान चंबा के वार्षिकोत्सव में दी गई रंगारंग लोक सांस्कृति की प्रस्तुतियां
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

वैदिक मेडिकल मैनेजमेंट संस्थान चंबा के वार्षिकोत्सव में दी गई रंगारंग लोक सांस्कृतिक की प्रस्तुतियां

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि थे सिविल जज डॉ. आलोक राम त्रिपाठी

संस्थान की उपलब्धियों की की गयी सराहना, ट्रेनीज को किया गया पुरस्कृत

चंबा, सो.ला.सकलानी ‘निशांत’: विगत दिवस मेडिकल मैनेजमेंट संस्थान का वार्षिकोत्सव विकास भवन सभागार में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। मुख्य अतिथि डॉक्टर आलोक राम त्रिपाठी सिविल जज, सचिव विधिक सेवा प्राधिकरण थे। कार्यक्रम के आयोजक संस्थान निदेशक योगेश रमोला ने संस्थान की उपलब्धियां के बारे में अगवत कराया।

कहा कि वर्तमान में पैंसठ छात्र-छात्राएं उनके संस्थान में ट्रेनिंग ले रहे हैं। पैरामेडिकल के अनेक कोर्स विद्यालय द्वारा संचालित किया जा रहे हैं। कोविड के समय संस्थान की गतिविधियां प्रभावित रही लेकिन फिर संस्थान ने अपनी लय पकड़ ली है। कार्यक्रम में वीआइ एच एम निदेशक प्रदीप कोठारी ने विकट परिस्थितियों में स्वयं और योगेश के द्वारा खड़े किए गए अपने संस्थानों के बारे में जिक्र किया। कहा कि इच्छा शक्ति हो तो असंभव कुछ नहीं है।

मुख्य अतिथि डॉक्टर त्रिपाठी ने विधिक सेवा के बारे में अनेक महत्वपूर्ण बातें, अधिनियम तथा किया जा रहे हैं कार्यों के बारे में अवगत कराया और नशा मुक्ति की शपथ दिलाई। वानिकी विश्वविद्यालय रानीचौरी परिसर के डीन अरविंद बिजल्वाण ने ट्रेनीज से रूबरू होते हुए शैक्षिक उपलब्धियों के बारे में बताया।

कहा कि टिहरी आज शिक्षा का हब बन गया है। चंबा क्षेत्र में शिक्षा तथा व्यावसायिक कोर्स के रूप में जो क्रांति आई है वह सराहनीय है।एडवोकेट राजपाल सिंह मियां ने विधिक सेवा प्राधिकरण और निशुल्क कानूनी सलाह दिए जाने के बाबत अपनी बात रखी। साहित्यकार सोमवारी लाल सकलानी ‘निशांत’ ने सदाबहार व्यावसायिक कोर्सेज, नर्सिंग होटलिंग और टीचिंग के बारे में छात्र-छात्राओं को बताया। अपनी गढ़वाली कविता भी प्रस्तुत की।

प्रशिक्षार्थी छात्र-छात्राओं के द्वारा लोक संस्कृति पर आधारित गणेश वंदना, महिषासुर मर्दन, झुमैलो,तांदी आदि नृत्य और नाटिकाएं प्रस्तुत की गई ।अतिथियों के हाथों प्रतिभाओं को पुरस्कार दिये गये। संस्थान निदेशक योगेश रमोला ने सभी आगंतुकों, अतिथियों का आभार प्रकट किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी उपस्थित रहे।

Comment