विश्व पर्यावरण दिवस: निबंध में सुहानी, पेंटिंग प्रतियोगिता में कृष्णा और स्लोगन में गुलब्सा ने मारी बाजी

0
116
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

विश्व पर्यावरण दिवस: निबंध में सुहानी, पेंटिंग प्रतियोगिता में कृष्णा और स्लोगन में गुलब्सा ने मारी बाजी

चंबा, सो.ला.सकलानी ‘निशांत’: विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर राजकीय इंटरमीडिएट कॉलेज छापराधार में विभिन्न प्रतियोगिताएं संपन्न हुई। प्रतियोगिताओं का परिणाम अतिथियों के सम्मुख छात्र-छात्राओं को सुनाया गया। निबंध प्रतियोगिता में सुहानी प्रथम, ज्योतिष्ना द्वितीय और समीक्षा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। पेंटिंग में कृष्णा ने प्रथम, आयुष ने द्वितीय और प्रियंका ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। वहीं स्लोगन प्रतियोगिता में गुलब्सा ने प्रथम, अनीता ने द्वितीय और अदिति ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इन दिनों विद्यालय में समर कैंप का आयोजन किया जा रहा है।

यह कार्यक्रम युवा क्लब और ईको क्लब के द्वारा आयोजित किया जा रहा है। विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम की जानकारी समर कैंप में छात्र-छात्राओं को दी जा रही है।पर्यावरण संरक्षण, लोक संस्कृति खेल, शैक्षिक भ्रमण, वृक्षारोपण, जल स्रोतों का संरक्षण, नशा मुक्ति एवं स्वच्छता अभियान कार्यक्रम के मुख्य हिस्से हैं।

आज अंतरराष्ट्रीय विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर मुख्य वक्ता और अतिथियों ने अनेक जानकारियां छात्र- छात्राओं के सामने बंया की। बड़ी संख्या में उपस्थित मातृशक्ति, स्थानीय लोगों के अलावा अनेकों गणमान्य व्यक्ति, विद्यालय प्रबंधन समिति के पदाधिकारी मौजूद रहे।

प्रातः 11:00 से 3:00 तक चले इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता विजय जड़धारी ने कहा कि समय की जरूरत है कि हमें अपने क्षेत्रीय पर्यावरण पर विशेष ध्यान देना है। साथ ही जैविक खेती, मिट्टी पानी और हवा का रखरखाव और स्थानीय पारंपरिक कृषि को भी बचाना आवश्यक है। कहा कि पर्यावरण के क्षेत्र में चिपको आंदोलन की महत्वपूर्ण भूमिका है। चिपको आंदोलन के द्वारा ही विश्व में एक नया संदेश गया। स्वर्गीय सुंदरलाल बहुगुणा का नामोउल्लेख करते हुए उन्होंने पर्यावरण संवर्धन के क्षेत्र में उनके योगदान को बयां किया।

साहित्यकार सोमवारी लाल सकलानी ‘निशांत’ ने विश्व पर्यावरण दिवस के इतिहास, उद्देश्य और जीव वैज्ञानिक परितंत्र के बारे में अवगत कराया। साथ ही ब्रांट कमीशन, संसार कमीशन और पृथ्वी सम्मेलन के बारे में अनेकों महत्वपूर्ण बातों पर अपना वक्तव्य दिया। उन्होंने नानी पालकीवाला के लेख बीमार ग्रह के बारे में भी अनेकों प्रश्न छात्र-छात्राओं से पूछे और उनकी जिज्ञासा को शांत किया। विजन इंस्टीट्यूट आफ होटल मैनेजमेंट के निदेशक प्रदीप कोठारी ने पर्यावरण के महत्व पर प्रकाश डाला और अपने संस्थान में आयोजित गतिविधियों का भी उल्लेख किया। जितेंद्र सिंह कोहली, सभासद शक्ति प्रसाद जोशी तथा सुभाष ने भी अपने विचार रखें। वरिष्ठ पत्रकार रघुभाई जड़धारी ने पर्यावरण के क्षेत्र में उनके गांव और टीम के द्वारा किए गए सुंदर कार्य के बारे में लोगों को अवगत कराया। साथ ही हम पर्यावरण की कैसे सुरक्षा कर सकते हैं, इस पर भी विचार रखे। डॉ. देवेश्वरानंद ने अपने विशद अनुभव के द्वारा उपस्थित जन समुदाय और छात्र छात्रों का मार्गदर्शन किया। सामाजिक कार्यकर्ता और प्रधान प्रतिनिधि विनोद डबराल ने स्वच्छता और अपशिष्ट पदार्थों के निस्तारण पर राय रखी। साथ ही अपनी जल जंगल और जमीन को संरक्षित रखने के लिए किये जा रहे प्रयासों से अवगत करवाया।

खंंड शिक्षा अधिकारी नरेश हल्दियानी ने कार्यक्रम में पर्यावरण के शैक्षिक पक्ष को रखा तथा शिक्षा विभाग द्वारा किए जा रहे विभिन्न कार्यों, ईको क्लब,एनसीसी और एनएसएस की भूमिका के बारे में अवगत कराते हुए अतिथियों का आदर किया। विद्यालय के पप्रधानाचार्य गबर सिंह चौहान ने कार्यक्रम का बखूबी संचालन किया तथा अतिथियों अपने विद्यालय की प्रबंध समिति के पदाधिकारी, गणमान्य व्यक्तियों तथा क्षेत्रीय जनता का आभार प्रकट किया। इर अवसर पर सरस्वती डबराल, ग्राम प्रधान सीमा डबराल, विकास डबराल, पीटीए अध्यक्ष रामलाल डबराल, परिपूर्णानंद डोभाल आदि उपस्थित रहे।

Comment