वन विश्राम भवन का पुनर्निमाण हो, तो पर्यटन स्थल के लिए विकसित किया जा सकता है गजा तमियार शिवपुरी मोटरमार्ग

वन विश्राम भवन का पुनर्निमाण हो, तो पर्यटन स्थल के लिए विकसित किया जा सकता है गजा तमियार शिवपुरी मोटरमार्ग।
वन विश्राम भवन का पुनर्निमाण हो, तो पर्यटन स्थल के लिए विकसित किया जा सकता है गजा तमियार शिवपुरी मोटरमार्ग।
play icon Listen to this article

वन विश्राम भवन का पुनर्निमाण हो, तो पर्यटन स्थल के लिए विकसित किया जा सकता है गजा तमियार शिवपुरी मोटरमार्ग।

नरेन्द्रनगर विधानसभा क्षेत्र का गजा तमियार, तिमली शिवपुरी मोटरमार्ग पर पर्यटन स्थलों को विकसित किया जा सकता है बशर्ते गजा से 9 किलोमीटर पर स्थित तमियार में पुराने वन विश्राम भवन का पुनर्निमाण किया जाता। यह बन विश्राम भवन सन् 1962-63 में तत्कालीन प्रभागीय वनाधिकारी चैन सिंह द्वारा जंगलों के निरीक्षण के लिए बनवाया गया था।

सरहद का साक्षी, डी.पी. उनियाल@ गजा

आपको बता दें कि गजा तमियार सड़क की चौड़ाई कम थी तथा बन विभाग द्वारा लीसा टिपान के लिए बनवाई गई थी जो कि विगत पंचवर्षीय योजना में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में शामिल होने के बाद अब पी एम जी एस वाई द्वारा गजा से शिवपुरी ऋषिकेश तक तैयार की गई है। यह मार्ग बांज, बुरांश ,काफल, भमोरा, चीड़, देवदार के घने जंगलों के बीच से होकर गुजरता है, अलौकिक छटा देखते ही बनती है, तमियार तिमली के आसपास होम स्टे योजना से ग्रामीणों को जोड़ा जाय तो पर्यटन की अपार संभावनाएं बनती हैं।

तमियार स्थित जीर्ण शीर्ण अवस्था में लावारिस हालत में बन विश्राम भवन या तो पशुओं की शरणस्थली बनता जा रहा है या फिर सड़क पर काम कर रहे मजदूरों के लिए आश्रय स्थल, जबकि इस भवन में रसोई घर से लेकर अधिकारियों व कर्मचारियों को रहने के लिए अलग-अलग कमरे बने हुए थे। इसी स्थान के ठीक ऊपर चढाई पर प्रसिद्ध घंटाकर्ण मंदिर है,बनविश्राम भवन निर्माण कार्य के लिए धनराशि स्वीकृत होती तो अच्छा पर्यटन स्थल विकसित हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here