राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के राष्ट्रीय नेत्र ज्योति अभियान का हुआ शुभारम्भ

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के राष्ट्रीय नेत्र ज्योति अभियान का हुआ शुभारम्भ
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के राष्ट्रीय नेत्र ज्योति अभियान का हुआ शुभारम्भ
play icon Listen to this article

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के राष्ट्रीय नेत्र ज्योति अभियान का श्रीगणेश

मोतियाबिंद मुक्त हेतु नि:शुल्क जांच शिविरों का होगा आयोजन

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत संचालित राष्ट्रीय अंधता नियंत्रण कार्यक्रम (एन०पी०सी०बी०) में राज्य को मोतियाबिंद दृष्टिहीनता बैकलॉग मुक्त किये जाने हेतु राष्ट्रीय नेत्र ज्योति अभियान का शुभारम्भ अमनदीप कौर, अपर सचिव, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, उत्तराखण्ड शासन की अध्यक्षता में किया गया।

अपर सचिव, स्वास्थ्य द्वारा कार्यक्रम के अन्तर्गत लक्ष्यों को पूर्ण करते हुए राज्य को मोतियाबिंद दृष्टिहीनता बैकलॉग मुक्त किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

डा० सरोज नैथानी, निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन उत्तराखण्ड द्वारा कार्यक्रम में लक्ष्यों को शतप्रतिशत पूर्ण करने पर जोर दिया गया नेत्र सर्जन एवं दृष्टिमितिज्ञों के द्वारा जनपद स्तर पर बेहतर उपचार प्रदान किये जाने हेतु प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा।

ब्लॉक स्तर पर लक्ष्यों की पूर्ति हेतु दृष्टिमितिज्ञ के द्वारा स्क्रीनिंग करने तथा राज्य को मोतियाबिंद दृष्टिहीनता बैकलॉग मुक्त किये जाने हेतु नेत्र शिविरों का आयोजन किये जाने हेतु निर्देश दिये गये।

🚀 यह भी पढ़ें :  पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन के लिए अनूठी पहल, श्रीदेव सुमन परिसर ऋषिकेश के प्रांगण के एक भाग को लिया गोद

डा० सुनिता टम्टा, निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण उत्तराखण्ड के द्वारा अवगत कराया गया कि समस्त नेत्र सर्जन एवं दृष्टिमितिज्ञों के द्वारा जोश एवं उत्साह के साथ उक्त “राष्ट्रीय नेत्र ज्योति अभियान के तहत कार्य किया जाना अति आवश्यक है।

डा० एस०के० झा, संयुक्त निदेशक (एन0सी0डी०), स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय, उत्तराखण्ड के द्वारा “राष्ट्रीय नेत्र ज्योति अभियान” के सफल संचालन हेतु राज्य स्तर से समस्त जनपदों को पूर्ण सहयोग प्रदान किया जायेगा।

डा० अर्चना ओझा, प्रभारी अधिकारी, राष्ट्रीय अंधता नियंत्रण कार्यक्रम के द्वारा प्रस्तुतिकरण के माध्यम से कार्यक्रम के सम्बन्ध में जानकारी प्रदान की गयी। साथ ही समस्त जनपदों की चिकित्सा ईकाईयों में मोतियाबिन्द ऑपरेशन के लक्ष्यों के सम्बन्ध में जानकारी प्रदान की गयी।

कार्यक्रम में राज्य स्तर से राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के साथ ही जनपद स्तर से नेत्र शल्यक, दृष्टिमितिज्ञ एवं एन०जी०ओ० के प्रतिनिधियों द्वारा प्रतिभाग किया गया।