राष्ट्रीय युवा दिवस पर महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में राष्ट्रीय सेवा योजना के एक दिवसीय शिविर का आयोजन

राष्ट्रीय युवा दिवस पर महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में राष्ट्रीय सेवा योजना के एक दिवसीय शिविर का आयोजन
राष्ट्रीय युवा दिवस पर महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में राष्ट्रीय सेवा योजना के एक दिवसीय शिविर का आयोजन


 

play icon Listen to this article

राष्ट्रीय युवा दिवस पर महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में राष्ट्रीय सेवा योजना के एक दिवसीय शिविर का आयोजन

राष्ट्रीय युवा दिवस पर महाविद्यालय परिसर में सिंगल यूज प्लास्टिक एकत्र करके चलाया वृहद स्वच्छता अभियान

“राष्ट्रीय युवा दिवस” के अवसर पर प्राचार्य प्रो. पुष्पा नेगी के निर्देशन में राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में राष्ट्रीय सेवा योजना के एक दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया।

सर्वप्रथम स्वयंसेवियों ने प्लास्टिक उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत महाविद्यालय परिसर में सिंगल यूज प्लास्टिक एकत्र करके वृहद स्वच्छता अभियान चलाया। साथ ही स्वयंसेवकों ने महाविद्यालय प्रांगण में साफ-सफाई भी की।

तत्पश्चात नेहरू युवा केंद्र रुद्रप्रयाग, युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय द्वारा एक क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें आदर्श भट्ट, बी.एस.सी. द्वितीय वर्ष ने प्रथम स्थान, संचित नेगी बी.एस.सी. द्वितीय वर्ष ने द्वितीय स्थान तथा दीया भट्ट बी.एस.सी. द्वितीय वर्ष ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।

इसके पश्चात राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा “वर्तमान समय में स्वामी विवेकानंद के विचारों की प्रासंगिकता” विषय पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया, जिसमें स्वयंसेवकों ने बढ़-चढ़कर प्रतिभाग किया और स्वामी विवेकानंद जी के जीवन से जुड़े प्रेरक प्रसंगों और उनके विचारों को प्रस्तुत किया।

प्राचार्य प्रो० पुष्पा नेगी ने स्वामी विवेकानंद जी के जन्मदिवस पर उन्हें शत-शत नमन करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद कालजयी महापुरुष हैं। स्वामी जी के विचारों को आत्मसात करके युवा वर्ग देश के उत्थान में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं। प्राचार्य ने यह भी कहा कि यदि युवा वर्ग निश्चित ध्येय, दृढ़ निश्चय और उचित समय का सामंजस्य अपने जीवन में करे, तो वह श्रेष्ठ समाज और श्रेष्ठ राष्ट्र के निर्माण में सहायक हो सकते हैं।

इसी के साथ छात्रसंघ अध्यक्ष गौरव भट्ट,महासचिव अनिकेत राणा, विश्वविद्यालय प्रतिनिधि संतोष त्रिवेदी, एवं विक्रांत चौधरी ने भी स्वामी विवेकानंद के विचारों को अपने वक्तव्य में प्रस्तुत किया।

इस भाषण प्रतियोगिता में संचित नेगी, बी.एस.सी. द्वितीय वर्ष ने प्रथम स्थान, आदर्श भट्ट बी.एस.सी. द्वितीय वर्ष ने द्वितीय स्थान, दीक्षा बी.ए. द्वितीय वर्ष ने तृतीय स्थान, आरती बी.एस.सी. द्वितीय वर्ष ने चतुर्थ स्थान तथा सानिया बी.एस.सी. द्वितीय वर्ष ने पंचम स्थान प्राप्त किया।

इस भाषण प्रतियोगिता में वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी डॉ० निधि छाबड़ा, कार्यक्रम अधिकारी डॉ० अंजना फर्स्वाण एवं कार्यक्रम अधिकारी डॉ० जितेंद्र सिंह ने निर्णायक मंडल की भूमिका का निर्वहन किया।

कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी डॉ० जितेंद्र सिंह ने किया।

अंत में राष्ट्रीय सेवा योजना के लक्ष्य गीत के सामूहिक गान के द्वारा इस एक दिवसीय शिविर का समापन हुआ। इस अवसर पर श्री ताहिर अहमद, श्री संदीप सिंह राणा, श्रीमती विनीता रौतेला एवं स्वयंसेवी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here