राष्ट्रीय पल्स पोलियो दिवस पर 13 लाख बच्चों को पिलाई जायेगी पोलियो ड्राप: डॉ धन सिंह रावत

10
शिक्षकों की वर्षों पुरानी मांग पूरी, यात्रा अवकाश स्वीकृत
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

राष्ट्रीय पल्स पोलियो दिवस पर 13 लाख बच्चों को पिलाई जायेगी पोलियो ड्राप: डॉ धन सिंह रावत

प्रदेशभर में घर-घर चलाया जाएगा पल्स पोलियो अभियान

स्वास्थ्य मंत्री डॉ रावत की अभिभावकों से अपील, बच्चों को जरूर पिलाएं पोलियो खुराक

देहरादून, 02 मार्च 2024: राष्ट्रीय पल्स पोलियो दिवस के अवसर पर रविवार को प्रदेशभर में पोलियो प्रतिरक्षण अभियान चलाया जाएगा। जिसके अंतर्गत प्रदेश के 05 आयु वर्ष तक के 13 लाख से अधिक बच्चों को पोलियो ड्राप पिलाई जाएगी। पोलियो अभियान के सफल संचालन के लिये सभी जनपदों के मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को जरूरी निर्देश दे दिये हैं। प्लस पोलियो अभियान के अंतर्गत कोई भी बच्चा पोलियो की खुराक लेने से वंचित न रहे इसके लिये उनके माता-पिता से अपील की गई है कि वह अपने बच्चों को पोलियो ड्राप अवश्य पिलाएं।

सूबे के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शशिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने बताया कि राष्ट्रीय प्लस पोलियो प्रतिरक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत रविवार से राष्ट्रीय प्लस पोलियो दिवस का प्रथम चरण की शुरूआत की जाएगी। जिसके अंतर्गत प्रदेशभर में 0 से 5 आयु वर्ष के 13 लाख 48 हजार 250 बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी।

उन्होंने बताया कि पोलियो अभियान के अन्तर्गत मैदानी क्षेत्रों में 03 मार्च को बूथ स्तर पर बच्चों को ड्राप दी जाएगी जबकि 04 मार्च से लेकर 09 मार्च तक आशा कार्य कार्यकत्रियों द्वारा घर-घर जाकर पोलियो की दवाई पिलाई जाएगी। इसी प्रकार पर्वतीय एवं दूरस्थ क्षेत्रों में भी 03 मार्च को बूथ स्तर तथा 04 मार्च से 06 मार्च तक घर-घर जाकर बच्चों को दवा दी जाएगी। विभागीय मंत्री ने बताया कि कोई भी बच्चा पोलियो की ख़ुराक से वंचित न रहे इसके लिये सभी जनपदों के मुख्य चिकित्साधिकारियों को अभियान की मॉनिटरिंग करने को कहा गया है। इसके अलावा सभी लाभार्थी बच्चों के माता-पिता से भी अपील की गई है कि वह अपने बच्चों को पोलियो ड्राप अवश्य पिलाएं।

डॉ रावत ने बताया कि केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार वित्तीय वर्ष 2021-22 में 13,20,964 लक्ष्य के सापेक्ष 13,48,250 बच्चों को पोलियो खुराक पिलाई गई, जो कि 102.06 प्रतिशत रहा।

उन्होंने बताया कि राज्य को इस कार्यक्रम में अपेक्षित सफलता प्राप्त हुई है जिसके फलस्वरूप वर्ष 2010 से अब तक राज्य में कोई भी पोलियो केस नही पाया गया है और वर्ष 2014 में विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा देश को पोलियों मुक्त घोषित किया जा चुका है।

Comment