महाविद्यालय मजरा महादेव ने ‘देवभूमि उद्यमिता योजना’ के अंतर्गत आयोजित ‘द्वि दिवसीय स्टार्टअप बूट कैम्प’ में किया प्रतिभाग

40
महाविद्यालय मजरा महादेव ने 'देवभूमि उद्यमिता योजना' के अंतर्गत आयोजित 'द्वि दिवसीय स्टार्टअप बूट कैम्प' में किया प्रतिभाग

महाविद्यालय मजरा महादेव ने ‘देवभूमि उद्यमिता योजना’ के अंतर्गत आयोजित ‘द्वि दिवसीय स्टार्टअप बूट कैम्प’ में किया प्रतिभाग

पौड़ी, विक्रम सिंह रावत: राजकीय महाविद्यालय, मजरा महादेव, पौड़ी (गढ़वाल) ने ‘देवभूमि उद्यमिता योजना’ के अंतर्गत (27/12/2023 से 28/12/2023 तक) राजकीय व्यवसायिक महाविद्यालय, बनास पैठानी, पौड़ी (गढ़वाल) आयोजित ‘द्वि दिवसीय स्टार्टअप बूट कैम्प’ में प्रतिभाग किया।

राजकीय व्यवसायिक महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. डी. एस. नेगी जी के द्वारा कार्यक्रम का समापन करते हुए कहा कि उत्तराखंड उत्तरी भारत का एक राज्य है, जो अपनी प्राकृतिक सुंदरता, समृद्ध संस्कृति और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है। राज्य को बेरोजगारी, प्रवासन, गरीबी और पर्यावरणीय गिरावट जैसी कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।

इन मुद्दों के समाधान के लिए, राज्य सरकार ने लोगों के विकास और कल्याण को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न योजनाएं और पहल शुरू की हैं। ऐसी ही एक योजना है उत्तराखंड देवभूमि उद्यमिता योजना, जिसका उद्देश्य राज्य के युवाओं को उद्यमी और स्वरोजगार बनने के लिए प्रोत्साहित करना और समर्थन करना है। इस योजना की घोषणा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने 24 अगस्त 2023 को कैबिनेट बैठक में की थी।

राजकीय महाविद्यालय मजरा महादेव के देवभूमि उद्यमिता योजना के नोडल अधिकारी डॉ. चन्द्र बल्लभ नैनवाल ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा युवाओं के बेहतर भविष्य के लिए और देश में बेरोजगारी की समस्या को दूर करने के लिए कई प्रकार की योजनाएं संचालित की जा रही है। जिसके माध्यम से युवाओं का कल्याण हो रहा है। इसी प्रकार उत्तराखंड सरकार द्वारा राज्य के युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए एक नई योजना की शुरुआत की गई है। जिसका नाम उत्तराखंड देवभूमि उद्यमिता योजना है।

कार्यक्रम में देवभूमि उद्यमिता योजना के अधिकारी डॉ.गौतम, राजकीय महाविद्यालय भरसर के प्रो.अंशुमान सिंह, राजकीय व्यवसायिक महाविद्यालय के नोडल अधिकारी डॉ.गौरव जोशी, डॉ प्रकाश फोंदनी, राजकीय महाविद्यालय पाबौ के नोडल अधिकारी डॉ. गणेश चंद्र तथा शिक्षणेतर कर्मचारियों में विक्रम रावत उपस्थित थे।

महाविद्यालय के 70छात्र – छात्राओं ने देवभूमि उद्यमिता योजना में नामांकन कराया, साथ ही कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान दिया।

Comment