महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना ने ग्रामीण क्षेत्र में मातृशक्ति को स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बनाया: राकेश राणा

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना
महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना- सरहद का साक्षी
play icon Listen to this article

जिला कांग्रेस कमेटी टिहरी गढ़वाल के अध्यक्ष राकेश राणा ने कहा कि पूर्ववर्ती यूपीए सरकार की महत्वकांक्षी योजना महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना ने ग्रामीण क्षेत्र में मातृशक्ति को स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बनाया है।उन्होंने कहा पूर्ववर्ती यूपीऐ सरकार के द्वारा तब चाहे राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना हो या राष्ट्रीय खाद्यान्न गारंटी योजना हो या शिक्षा का अधिकार अधिनियम हो यह बहुत सारी योजनाएं ग्रामीण भारत को स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बनाने वाली योजना थी उन्होंने कहा कि सरकार को इन योजनाओं को और मजबूत बनाने की आवश्यकता है जिससे हिंदुस्तान की जो आत्मा गांव में निवास करती है वह आत्मनिर्भर बने और स्वावलंबी बने।

कोविड-19 बीमारी में हो या नोटबंदी के बाद ग्रामीण क्षेत्र में आम जनमानस की महंगाई और बेरोजगारी से कमर टूट गई थी लेकिन एकमात्र योजना राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना थी, जिससे गांव के लोगों ने अपनी आजीविका चलाई वर्तमान समय में यह योजना कछुए की चाल चल रही है जिससे गांव देहात में लोग हताश और निराश है महंगाई के इस दौर में यह योजना मात्र एक सहारा है जो लोगों को 2 जून की रोटी देती है। उन्होंने सरकार से मांग की राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना को और सरलीकृत किया जाए, जिससे योजना का ज्यादा से ज्यादा फायदा आम जनमानस को मिले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here