मजरा महादेव पौड़ी में मनाया ‘राष्ट्रीय हिंदी दिवस’

0
174
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

मजरा महादेव पौड़ी में मनाया ‘राष्ट्रीय हिंदी दिवस’

पौड़ी, विक्रम सिंह रावत: राजकीय महाविद्यालय, मजरा महादेव, पौड़ी (गढ़वाल) में आज ‘राष्ट्रीय हिंदी दिवस’ का मनाया गया।

मंच का संचालन करते हुए हिंदी विभाग की डॉ. प्रियंका भट्ट ने कहा कि हिन्दी दिवस प्रत्येक वर्ष 14 सितम्बर को मनाया जाता है। 14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने यह निर्णय लिया कि हिन्दी केन्द्र सरकार की आधिकारिक भाषा होगी। क्योंकि भारत मे अधिकतर क्षेत्रों में ज्यादातर हिन्दी भाषा बोली जाती थी इसलिए हिन्दी को राजभाषा बनाने का निर्णय लिया और इसी निर्णय के महत्त्व को प्रतिपादित करने तथा हिन्दी को प्रत्येक क्षेत्र में प्रसारित करने के लिये वर्ष 1953 से पूरे भारत में 14 सितम्बर को प्रतिवर्ष हिन्दी-दिवस के रूप में मनाया जाता हैं।

महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. के.सी. दुद्पुड़ी ने कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कहा कि हिंदी हिंदुस्तान के गर्व की भाषा है जिसने पूरे विश्व में हमें एक अलग पहचान दिलाई है। हिंदी पूरे विश्व में बोली जाने वाली प्रमुख भाषाओं में से भी एक है। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक लगभग सभी लोग हिंदी को आसानी से समझ लेते हैं।

हिंदी सबसे सरल और आसान भाषा है लेकिन फिर भी कहीं न कहीं आज के युग में हिंदी पिछड़ती दिखाई दे रही है। इसीलिए हिंदी के सम्मान के लिए हम हर साल 14 सितंबर को ‘हिंदी दिवस’ और 10 जनवरी को ‘विश्व हिंदी दिवस’ के रूप में मनाते हैं ताकि हिन्दी के प्रति लोगों का नजरिया बदल सके।

महाविद्यालय के प्राध्यापकों में इंद्रपाल सिंह रावत, डॉ दीपक कुमार , डॉ. चन्द्र बल्लभ नैनवाल, और डॉ. राकेश सिंह के साथ-साथ शिक्षणेतर कर्मचारी उदयराम पंत, विक्रम सिंह रावत, वीरेन्द्र सिंह, मनोज रावत ने कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना योगदान दिया। महाविद्यालय के छात्र- छात्राओं ने भी कार्यक्रम में बढ़-चढ़कर प्रतिभाग किया।

Comment