भूगोल की छात्राओं ने शैक्षणिक भ्रमण के दौरान किया पर्यटक स्थल के लोगों को जागरूक

48
भूगोल की छात्राओं ने शैक्षणिक भ्रमण के दौरान किया पर्यटक स्थल के लोगों को जागरूक
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

भूगोल की छात्राओं ने शैक्षणिक भ्रमण के दौरान किया पर्यटक स्थल के लोगों को जागरूक

पोखरी, टिहरी: शहीद बेलमती चौहान राजकीय महाविद्यालय पोखरी क्वीली, टिहरी गढ़वाल के भूगोल विभाग द्वारा आज दिनांक 20 फरवरी 2024 को महाविद्यालय की भूगोल विभाग प्रभारी डॉ. सुमिता पंवार के निर्देशन में बी. ए. तृतीय वर्ष भूगोल प्रयोगात्मक कार्यांतर्गत अनिवार्य शैक्षिक भ्रमण (एक दिवसीय) का आयोजन किया गया, जिसमे 09 छात्राओं द्वारा प्रतिभाग किया गया।

शैक्षिक भ्रमण स्थान पोखरी, क्वीली टिहरी गढ़वाल से कद्दूखाल, सुरकंडा टिहरी गढ़वाल तक आयोजित किया गया। जहां छात्राओं ने टूर कमांडर कुमारी अंजली बिजलवाण द्वारा तैयार की गई कार्यक्रम रूपरेखा के आधार पर भ्रमण क्षेत्र की भौगोलिक एवं सांस्कृतिक विशेषताओं के विषय में आवश्यक जानकारियां प्राप्त की और भ्रमण क्षेत्र के स्थानीय लोगों को पर्यावरण संरक्षण, प्लास्टिक उन्मूलन एवं स्वच्छता के प्रति जागरुक करते हुए पर्यावरण संरक्षण की आवश्यकता एवं महत्व के विषय में विस्तार से जानकारी प्रदान की। साथ ही जलवायु परिवर्तन के नकारात्मक प्रभावों को कम करने के लिए किस प्रकार आम व्यक्ति अपना सहयोग प्रदान कर सकता है, इस विषय में महत्वपूर्ण जानकारियां प्रदान की। कड़ाके की ठंड और बर्फबारी के बावजूद छात्राएं भ्रमण को लेकर काफी उत्साहित थीं तथा पूर्ण मनोयोग के साथ उन्होंने अपने कार्य को पूर्ण लगन के साथ पूर्ण किया।

शैक्षणिक भ्रमण का निर्देशन करते हुए डॉ. पंवार ने छात्राओं को इसकी आवश्यकता एवं महत्व के विषय में बताते हुए कहा कि शैक्षणिक भ्रमण विद्यार्थियों के सम्पूर्ण व्यक्तित्व के विकास के लिए महत्वपूर्ण कड़ी है। ये भ्रमण विद्यार्थियों को अपने और दूसरों के अनुभव से सीखने का एक अच्छा अवसर देते हैं। जब विद्यार्थी शैक्षणिक भ्रमण पर जाते हैं तो वे अपनी आँखों से प्रत्यक्ष रूप में देखकर किसी भी विषयवस्तु का वर्णन करने में सक्षम हो जाते हैं। भूगोल शिक्षण में क्षेत्रीय भ्रमण का महत्वपूर्ण स्थान है। क्षेत्रीय भ्रमण ऐसी शिक्षा पर बल देता है जो अधिक मात्रा में व्यावहारिक, जीवनोपयोगी तथा अधिकतम ज्ञान प्रदान कर सकें। क्षेत्रीय भ्रमण शिक्षण को आकर्षक, मनोरंजक तथा सरल बनाती है। क्षेत्र भ्रमण कक्षा-कक्ष के बाहर भ्रमण करने का व्यवस्थित एवं सौद्देश्य रूप है जिसका संचालन विद्यालय द्वारा पाठ्यक्रम के एक अंग के रूप में किया जाता है।

क्षेत्रीय भ्रमण भूगोल शिक्षण में एक प्राकृतिक प्रयोगशाला के रूप में कार्य करता है। छात्राओं में अक्षा, नीमा, अंजली चौहान, हिमवंती, सिया पयाल, पूजा, प्रियांशी, आयशा शामिल रहीं।

Comment