भर्ती घोटालों की सीबीआई जांच को लेकर टिहरी DM कार्यालय पर धरना देकर किया प्रदर्शन

भर्ती घोटालों की सीबीआई जांच को लेकर टिहरी DM कार्यालय पर धरना देकर किया प्रदर्शन
play icon Listen to this article

भर्ती घोटालों की सीबीआई जांच को लेकर टिहरी DM कार्यालय पर आंदोलनकारी मंच टिहरी गढ़वाल के बैनर तले धरना देकर किया गया, बुधवार को नई टिहरी में जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन किया गया। तत्पश्चात जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजकर “भर्ती घोटालों की किसी सिटिंग जज की निगरानी में सीबीआई जांच” की मांग की गई।

ज्ञापन में कहा गया कि उत्तराखण्ड राज्य निर्माण के दौरान अनेकों लोगों ने अपने प्राणों की आहूति दी थी और लम्बे संघर्ष और शहादतों के बाद आराखण्ड राज्य का निर्माण हुआ राज्य निर्माण आन्दोलन के दौरान हम सब आन्दोलनकारियों की भावना थी, कि हमारा नवोदित राज्य ईमानदारी से मेहनत करेगा और पहाड़ की जवानी और पहाड़ का पानी पहाड वासियों के ही काम आयेगा. हमारे बेरोजगार युवा भाई बहनों को पारदर्शिता से सरकारी पक्की नौकरियां मिलेगी, माता-बहके का बोझ कम होगा और वे इस प्रदेश का भी कुशल नेतृत्व कर सकेंगी किन्तु आज के परिवेश में जब हम मीडिया, सोशल मीडिया और पत्र-पत्रकाओं में है कि राज्य में नौकरियों को बेचा जा रहा है, UKSSSC भर्ती परीक्षाओं के पेपर ही खरीदे और बेचे जा रहे है बैकडोर से अपने-अपनों को नौकरियों पर लगाया जा रहा है जिससे उत्तराखण्ड का जनमानस बुध है, और उनमें भारी आक्रोश व्याप्त है। वहीं बेरोजगार युबति है और कुछ भी करने को तैयार है, प्रत्येक दिन सरकार के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे है।

बेरोजगार युवाओं को आपके गुरुत्व सम्बल की आवश्यकता है अन्यथा उत्तराखण्ड का बेरोजगार युवा अपनी दिशा बदल देगा जो कि राज्य के हितों के विपरीत होगा हमें उम्मीद है कि आप ऐसा नही होने देंगे और सरकार को दिशा-निर्देश देंगे कि युवाओं का भरोसा जीतने के लिए भर्ती घोटालों की सीबीआई जांच सर्वोच्च न्यायालय या उच्च न्यायालय के कार्यरत न्यायमूर्ति को देखरेख में करवाने का आदेश देंगे, ताकि बेरोजगार युवाओं का भरोसा निर्वाचित सरकारों पर बना रहे।
धरना देने वालों में उर्मिला महर, शांति भट्ट, विजय गुनसोला, देवेन्द्र नौडियाल आदि अनेक लोग शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here