प्रखर समाज सेवी उत्तराखंड जन परिषद के संस्थापक अध्यक्ष स्व श्री चंद्र सिंह बिष्ट की पुण्यतिथि पर घनसाली में दी श्रद्धांजलि

प्रखर समाज सेवी उत्तराखंड जन परिषद के संस्थापक अध्यक्ष स्व श्री चंद्र सिंह बिष्ट की चतुर्थ पुण्य तिथि पर घनसाली शिशु मंदिर में उन्हें याद कर श्रद्धांजलि
प्रखर समाज सेवी उत्तराखंड जन परिषद के संस्थापक अध्यक्ष स्व श्री चंद्र सिंह बिष्ट की चतुर्थ पुण्य तिथि पर घनसाली शिशु मंदिर में उन्हें याद कर श्रद्धांजलि


 

play icon Listen to this article

प्रखर समाज सेवी उत्तराखंड जन परिषद के संस्थापक अध्यक्ष स्व श्री चंद्र सिंह बिष्ट की चतुर्थ पुण्य तिथि पर घनसाली शिशु मंदिर में उन्हें याद कर श्रद्धांजलि दी गयी।

सरहद का साक्षी, लोकेंद्र जोशी @घनसाली

स्वर्गीय चंद्र सिंह बिष्ट के द्वारा उत्तराखंड जन परिषद का गठन वर्ष 2011 में किया गया। जिसके उद्देश्य सम्पूर्ण उत्तराखंड को नशा मुक्त प्रदेश बनाना था। चंद्र बिष्ट की चतुर्थ पुण्यतिथि पर विभिन्न कार्यक्रम किए गए। जिसमे समाज से जुड़े सामाजिक, राजनैतिक, शैक्षणिक, ब्यापार मण्डल आदि विभिन्न क्षेत्रों बड़े संख्या में लोगों ने उपस्थित कर विभिन्न स्कूलों से आए बच्चों के द्वारा प्रस्तुत बच्चों के सांस्कृतिक कार्य क्रम आनंद लेते हुए विचार गोष्ठी में भाग लिया। विचार गोष्ठी में सभी बक्ताओं ने स्व चंद्र सिंह बिष्ट के बताए मार्ग पर चलते हुए पूरे पहाड़ को नशामुक्त करने की मांग की।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक शक्ति लाल शाह, विशिष्ठ अतिथि पर्यावरणविद ओम प्रकाश डंगवाल, एडवोकेट लोकेंद्र जोशी, अध्यापक हुकम सिंह रावत, भाजपा नेता ओम प्रकाश भुजवान, डॉ नरेंद्र डंगवाल, थानाध्यक्ष सुखपाल सिंह मान, अध्यापक भरत सिंह नेगी, भाजपा प्रकाश भुजवान, धर्मसिंह बिष्ट, हीरामणि बिजलवान आयोजन समिति से जुड़े अध्यक्ष केशर सिंह रावत, आर बी सिंह, बेली राम कंसवाल, लोकेंद्र सिंह रावत,पुरवाल, मनोज रामोला बोबी प्रकाश, महावीर लाल,सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

कार्यक्रम में हाल ही में सम्पन हुए बिना कॉकटेल पार्टी के विवाह करने वाले लोगो व उनके अभिभावकों को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता साहब सिंह सजवान, तथा संचालन विनोद लाल शाह ने किया।

कार्यक्रम से पूर्व बाजार में नशा मुक्ति हेतु रैली का आयोजन भी किया गया जिसमे विभिन्न स्कूली बच्चों ने प्रतिभाग किया। स्कूलि बच्चों को भी सम्मानित किया गया। ब्रह्म कुमारी विश्व विद्यालय की बहिने भी उपस्थित रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here