पोखरी क्वीली कॉलेज में हिन्दी दिवस पर हिंदी साहित्यिक परिषद द्वारा संगोष्ठी आयोजित

पोखरी क्वीली कॉलेज में हिन्दी दिवस पर हिंदी साहित्यिक परिषद द्वारा संगोष्ठी आयोजित
पोखरी क्वीली कॉलेज में हिन्दी दिवस पर हिंदी साहित्यिक परिषद द्वारा संगोष्ठी आयोजित
play icon Listen to this article

शहीद बेलमती चौहान राजकीय महाविद्यालय पोखरी (क्वीली) टिहरी गढ़वाल के हिंदी विभाग द्वारा राष्ट्रीय हिंदी दिवस पर हिंदी साहित्यिक परिषद द्वारा एक दिवसीय संगोष्ठी के प्रारंभ में महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ शशिबाला वर्मा व डॉ संजीब नेगी, डॉ मणिकांत शाह द्वारा दीप प्रज्जलित कर माँ सरस्वती की प्रतिमा के सम्मुख पुष्प अर्पित कर के कार्यक्रम शुभारंभ किया।

सरहद का साक्षी, नरेन्द्र बिजल्वाण @पोखरी (क्वीली)

कार्यक्रम के संयोजक डॉ राम भरोसे ने जानकारी देते हुए बताया कि इस संगोष्ठी में हिंदी भाषा की रोजगारपरकता विषयक विशिष्ट व्याख्यान का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय नई टिहरी (टिहरी गढ़वाल) उत्तराखंड के हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ संजीब नेगी एवं समाजशास्त्र विभाग के डॉ मणिकांत शाह द्वारा उक्त विषय में विद्यार्थियों को व्याख्यान दिए।

मुख्य वक्ता डॉ संजीब नेगी ने पीपीटी के माध्यम से महाविद्यालय के समस्त छात्र छात्राओं को हिंदी की रोज़गारपरकता पर विस्तार से बात रखी। उन्होंने कहा हिंदी को विदेशों में भी मुख्य विषय के रूप में पढ़ाई जा रही है। विशिष्ट वक्ता डॉ मणिकांत शाह द्वारा बच्चों को हिंदी भाषा की समाजीकरण पर अपनी बात रखी।

इसके अलावा गत दिवस ’सामान्य हिंदी भाषा प्रतियोगिता-2022’ का भी आयोजन किया गया। इस आयोजन में महाविद्यालय के अधिकांश विद्यार्थियों ने प्रतिभाग किया. इस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान बीए प्रथम वर्ष की काजल द्वितीय स्थान बीए प्रथम वर्ष की सुष्मिता केंतुरा व तृतीय स्थान बीए प्रथम वर्ष की रितिका ने प्राप्त किया, तीनों विजेताओं को मुख्य अतिथि द्वारा पुरस्कृत किया गया।

कार्यक्रम में इस संगोष्ठी का उद्देश्य बताया कि नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति -2020 में हिंदी भाषा या अन्य भारतीय भाषाओं के विकास और समवर्धन हेतु नीतियाँ बनायी गयी है। यही ध्यान में रखते हुए इस संगोष्ठी के माध्यम से यह प्रयास किया गया कि हिंदी भाषा किस तरह से रोजगारपरक भी है. और हिंदी को मुख्य विषय में रखकर विद्यार्थी भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी कई प्रकार रोजगार प्राप्त कर सकते हैं।

इसके अंत में महाविद्यालय के प्राचार्या और इस कार्यक्रम की अध्यक्ष डॉ शशि बाला वर्मा द्वारा हिंदी दिवस के इस विशेष अवसर पर सभी बच्चों को सम्बोधित करते हुए अपने उद्बोधन में हिंदी भाषा पर बहुत सुंदर कविता प्रस्तुत करते हुए हिंदी विषय की महत्ता बताई।

इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ शशि बाला वर्मा और मुख्य अतिथि डॉ संजीब नेगी द्वारा हिंदी विभाग प्रभारी और इस कार्यक्रम के संयोजक डॉ राम भरोसे की छठी पुस्तक हिंदी नाट्य साहित्य का विमोचन भी किया गया. पूरे महाविद्यालय परिवार और छात्र छात्राओं ने डॉ० राम भरोसे को बधाइयाँ प्रेषित की। कार्यक्रम में महाविद्यालय के अन्य विभाग के प्राध्यापकों द्वारा हिंदी भाषा के विषय में अपनी अपनी बात रखी। कार्यक्रम के अंत में अर्थशास्त्र विभाग की प्रभारी श्रीमती सरिता देवी ने सभी अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापन किया।

कार्यक्रम में महाविद्यालय के डॉ मुकेश सेमवाल, डॉ बंदना सेमवाल, डॉ सुमिता पंवार, श्रीमती रचना राणा, श्रीमती रेखा नेगी, अंकित कुमार, अमिता, नरेन्द्र बिजल्वाण, नरेश, दीवान, श्रीमती सुनीता, मूर्ति लाल, राजेंद्र प्रसाद आदि उपस्थित रहे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here