पेयजल संबंधी समस्याओं के त्वरित समाधान हेतु सीडीओ ग्रामीण क्षेत्रों तथा एडीएम शहरी क्षेत्रों हेतु ओवरऑल नोडल अधिकारी नामित

पेयजल संबंधी समस्याओं के त्वरित समाधान हेतु सीडीओ ग्रामीण क्षेत्रों तथा एडीएम शहरी क्षेत्रों हेतु ओवरऑल नोडल अधिकारी नामित
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

पेयजल संबंधी समस्याओं के त्वरित समाधान हेतु सीडीओ ग्रामीण क्षेत्रों तथा एडीएम शहरी क्षेत्रों हेतु ओवरऑल नोडल अधिकारी नामित

नई टिहरी/09 मई 2024: जनपद टिहरी गढ़वाल में बढ़ती गर्मी के चलते प्राकृतिक जल स्रोतों में पानी कम होने/सूखने के कारण ग्रामीण/शहरी क्षेत्रों में नियमित/वैकल्पिक पेयजल आपूर्ति बनाए रखने तथा पेयजल संबंधी समस्याओं के त्वरित समाधान हेतु सीडीओ को ग्रामीण क्षेत्रों हेतु तथा एडीएम को शहरी क्षेत्रों हेतु ओवरऑल नोडल अधिकारी नामित किया गया है।

जिलाधिकारी मयूर दीक्षित के निर्देशन में बुधवार को नोडल अधिकारी ग्रामीण/शहरी द्वारा विकास भवन सभागार में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की गई।

मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक त्रिपाठी एवं अपर जिलाधिकारी के.के. मिश्रा द्वारा जल संस्थान एवं पेयजल निगम के अधिकारियों से कुल पेयजल स्रोत एवं उनसे आच्छादित उपभोक्ता, पेयजल की मांग, आपूर्ति, समस्याएं आदि की जानकारी लेते हुए सुझाव प्राप्त कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। जल संस्थान के तीनो डिविजन एवं पेयजल निगम के पांचों डिविजन के अधिशासी अभियंताओं को निर्देश दिए गए कि पेयजल से संबंधित प्राप्त शिकायतों का त्वरित निस्तारण करना सुनिश्चित करें। जिन क्षेत्रों में पेयजल/विद्युत लाइन टूटने के कारण पेयजल की समस्या उत्पन्न हो रही है, वहां पर वैकल्पिक व्यवस्था कर टैंकरों से पानी उपलब्ध कराएं। अधिकारी क्षेत्रों में जाकर पेयजल शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए उनका समाधान करें तथा कोई समस्या हो तो संज्ञान में लाएं।

सीडीओ ने पेयजल संबंधी समस्याओं के समाधान हेतु तहसील स्तर पर कंट्रोल रूम बनाने, फोन नंबर शेयर करने तथा कंट्रोल रूम में तहसील /ब्लॉक/पेयजल विभागों से कार्मिक तैनात करने के निर्देश दिए। यात्रा मार्गों पर पेयजल की वैकल्पिक व्यवस्था पहले से बनाकर रखने, पंपिंग स्कीम के तहत स्पेयर पंप को चेक करवाने, अस्थाई जनसंख्या को ध्यान में रखकर योजनाएं बनाने तथा कुल पेयजल टैंक, टैंकों की क्षमता, पेयजल बैकअप व्यवस्था, कुल हैंडपंप फंक्शनल/नॉन फंक्शनल, अंडर रिपेयर आदि का विवरण उपलब्ध कराने को कहा गया। इसके साथ ही लीकेज चिन्हित कर ठीक करने, पेयजल भंडारण की क्षमता बढ़ाने, प्रतिदिन टैंक की मेजरमेंट चेक कर रिपोर्टिंग करने, पेयजल आपूर्ति प्रभावित क्षेत्रों की सूचना प्रसारित करने तथा वैकल्पिक व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए। डीपीआरओ को निर्देश दिए कि ग्राम पंचायतों में पेयजल टैंकों के भर जाने पर चेक वॉल बंद करने हेतु जिम्मेदारी फिक्स करवाने के लिए अवगत करा दें, पेयजल की बचत हो सके।

इस मौके पर पीडी डीआरडीए योगेश उपाध्याय, एसडीएम नरेंद्रनगर देवेंद्र नेगी, देवप्रयाग सोनिया पंत, टिहरी संदीप कुमार, डीपीआरओ एम.एम. खान, अधिशासी अभियंता जल संस्थान टिहरी प्रशांत भारद्वाज, देवप्रयाग नरेश पाल, घनसाली संतोष उपाध्याय, अधिशासी अभियंता पेयजल निगम चंबा के.एन. सेमवाल, नई टिहरी/घनसाली जीतमणि बेलवाल, देवप्रयाग राजेश, मुनि की रेती प्रवीन शाह, यांत्रिक शाखा पेयजल निगम दीप्तांशु पांडेय, डीडीएमओ बृजेश भट्ट सहित समस्त बीडीओ एवं अन्य संबंधित अधिकारी भौतिक एवं वर्चुअल माध्यम से बैठक में जुड़े रहे।

Comment