पर्वतीय क्षेत्रों में मिले स्थाई सीसीबी की स्वीकृति डॉ.धन सिंह रावत ने स्वास्थ्य मंत्रियों की वर्चुअल बैठक में रखी मांग

पर्वतीय क्षेत्रों में मिले स्थाई सीसीबी की स्वीकृति डॉ.धन सिंह रावत ने स्वास्थ्य मंत्रियों की वर्चुअल बैठक में रखी मांग
play icon Listen to this article

कहा, राज्य को उपलब्ध करायें अतिरिक्त प्रीकॉशन डोज

अल्मोड़ा विवि के तीनों परिसरों में शीघ्र करें शिक्षकों की तैनाती

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. रावत ने दिये उच्चाधिकारियों को निर्देश

देहरादून। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ.मनसुख मांडविया की अध्यक्षता में आयोजित स्वास्थ्य मंत्रियों की वर्चुअल बैठक में स्वास्थ्य मंत्री डॉ.धन सिंह रावत ने स्वास्थ्य से संबंधित प्रदेश के मुद्दे रखे। उन्होंने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री के समक्ष प्रदेश की विषम भौगोलिक परिस्थितियों का हवाला देते हुये पर्वतीय क्षेत्रों में स्थाई क्रिटीकल केयर ब्लॉक (सीसीबी) के निर्माण की स्वीकृति देते हुये बजट बढ़ाने की मांग की। प्रीकॉशन डोज टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के लिये स्वास्थ्य मंत्री ने केन्द्र सरकार से अतिरिक्त वैक्सीन उपलब्ध कराने, कोविड काल में स्वीकृत अवशेष धनराशि को खर्च करने एवं एनएचएम के अंतर्गत प्रथम किस्त जारी करने का अनुरोध किया। जिस पर केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने सकारात्मक रूख अपनाते हुये शीघ्र कार्रवाई का आश्वासन दिया।

चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने आज केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया की अध्यक्षता में आयोजित स्वास्थ्य मंत्रियों की वर्चुअल बैठक में शिरकत की। बैठक में डॉ. रावत ने विषम भौगोलिक परिस्थितियों का हवाला देते हुये पर्वतीय क्षेत्रों में स्थाई क्रिटीकल केयर ब्लॉक के निर्माण की स्वीकृति की मांग की।

उन्होंने बताया कि प्री-फेब्रिकेटेड सीसीबी के निर्माण हेतु केन्द्र द्वारा स्वीकृत 9.50 लाख की धनराशि पर्याप्त नहीं है जबकि रूपये 25 लाख की लागत से पर्वतीय जनपदों में स्थाई सीसीबी का निर्माण किया जा सकता है। उन्होंने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री से पर्वतीय जनपदों में स्थाई सीसीबी निर्माण हेतु रूपये 25 लाख की मांग की। डॉ.रावत ने राज्य में प्रीकॉशन टीकाकरण अभियान में और अधिक तेजी लाने के लिये अतिरिक्त वैक्सीन की मांग रखी। उन्होंने कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव के तहत राज्य में अबतक 18 फीसदी लोगों को प्रीकॉशन डोज लग चुके हैं जो कि राष्ट्रीय औसत से अधिक है। बैठक में डॉ0 रावत ने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री से कोविड वैक्सीनेशन के अंतर्गत पूर्व में स्वीकृत बजट को वापस न लिये जाने एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत प्रथम किस्त जारी करने का भी अनुरोध किया। उन्होंने बताया कि बजट न मिलने से एनएचएम के कार्मिकों को विगत कई माह से वेतन-भत्ते नहीं मिल पाये हैं जिससे उनकी आर्थिक स्थिति गड़बड़ा गई है। आयुष्मान योजना की जानकारी देते हुये उन्होंने बताया कि सूबे में अब तक करीब 49 लाख लोगों के आयुष्मान कार्ड बन चुके हैं तथा योजना के अंतर्गत 5.50 लाख लोगों का उपचार भी किया जा चुका है। जिस पर केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने खुशी जाहिर की और राज्य से जुड़े मुद्दे पर सकारात्मक सहायोग का आश्वासन दिया।

बैठक में प्रभारी सचिव एवं मिशन निदेशक एनएचएम आर राजेश, महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ. शैलजा भट्ट, निदेशक एनएचएम डॉ. सरोज नैथानी, वित्त नियंत्रक खजान चन्द्र पाण्डे सहित शहरी विकास विभाग के अधिकारी एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

अल्मोड़ा विवि के तीनों परिसरों में शीघ्र करें शिक्षकों की तैनाती

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. रावत ने दिये उच्चाधिकारियों को निर्देश

कहा, तीनों परिसरों में इसी सत्र से प्रारम्भ की जाय कक्षाएं

सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय अल्मोड़ा के तीनों परिसरों में टीचिंग एवं नॉन टीचिंग स्टॉफ की शीघ्र तैनाती के निर्देश उच्चाधिकारियों को दे दिये गये हैं। विश्वविद्यालय के तीनों परिसरों अल्मोड़ा, पिथौरागढ़ एवं बागेश्वर में इसी सत्र से विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू करने एवं विधिवत् कक्षाएं संचालित करने को कहा गया है।

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने आज विधानसभा स्थित सभागार में उच्च शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक ली। जिसमें उन्होंने सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय अल्मोड़ा में शिक्षक एवं शिक्षणेत्तर कार्मिकों की शीघ्र तैनाती करने के निर्देश विश्वविद्यालय एवं उच्च श्ज्ञिक्षा विभाग के अधिकारियों को दिये।

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 एन0एस0 भण्डारी ने बताया कि पिथौरागढ़ एवं बागेश्वर परिसरों में शिक्षकों एवं शिक्षणेत्तर कार्मिकों की तैनाती के लिये सभी औपचारिकताएं पूर्ण कर दी गई है। जिसके तहत शैक्षणिक पदों के लिये कमेटी द्वारा साक्षात्कार प्रक्रिया पूर्ण कर दी गई है। इसी प्रकार शिक्षणेत्तर पदों के लिये कार्मिकों से विकल्प मांग कर सूची तैयार कर ली गई है। जिस पर अग्रिम कार्यवाही कर दो सप्ताह के भीतर कार्मिकों की सूची जारी कर दी जायेगी। कुलपति ने कहा उनका प्रयास रहेगा कि विश्वविद्यालय के तीनों परिसरों अल्मोड़ा, पिथौरागढ़ एवं बागेश्वर में पूर्व की भांति सभी संकायों में अधिक से अधिक छात्र-छात्राओं को प्रवेश दिया जाय।

बैठक में सचिव उच्च शिक्षा शैलेश बगोली, कुलपति सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय अल्मोड़ा प्रो0 एन0एस0 भण्डारी, कुलपति कुमांऊ विवि प्रो0 एन0के0 जोशी, निदेशक उच्च शिक्षा प्रो0 एस0के0 शर्मा, सलाहकार रूसा प्रो0 एम0एस0एम0 रावत, प्रो. केडी. पुरोहित, अपर सचिव एम.एम. सेमवाल, संयुक्त निदेशक एवं नोडल रूसा डॉ.ए.एस.उनियाल सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

व्यावसायिक महाविद्यालय पैठाणी में खुलेंगे दो अन्य विषय

जंतु विज्ञान एवं वनस्पति विज्ञान विषय को मिलेगी स्वीकृति

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने अपने विधानसभा क्षेत्र में स्थित महाविद्यालयों की समीक्षा बैठक ली। जिसमें उन्होंने शिक्षकों के तैनाती, भवन निर्माण, प्रवेश प्रक्रिया की प्रगति, पाठ्य पुस्तकों की उपलब्धता सहित तमाम विषयों पर विस्तार से चर्चा की। विभागीय मंत्री ने अधिकारियों को व्यावसायिक महाविद्यालय पैठाणी में शीघ्र जंतु विज्ञान एवं वनस्पति विज्ञान विषयों में स्वीकृति प्रदान करने एवं शिक्षकों की तैनाती करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिन महाविद्यालयों में निर्माण कार्य अधूरे पड़े हैं उन्हें शीघ्र पूर्ण कराया जाय तथा जिन महाविद्यालयों में शिक्षकों के पद रिक्त हैं वहां पर शिक्षकों शीघ्र तैनाती की जाय। महाविद्यालयों में सफाई व्यवस्था के लिये आउट सोर्स एजेंसी अथवा आउट सोर्स कार्मिकों की तैनाती के निर्देश भी विभागीय अधिकारियों को दिये।

बैठक में प्राचार्य थलीसैण महाविद्यालय प्रो0 रेनु रानी बंसल, प्राचार्य मजरा महादेव प्रो0 के0सी0 दुदपुडी, प्रभारी प्राचार्य खिर्सू महाविद्यालय प्रो0 डी0एस0 नेगी, डॉ0 कुलदीप सिंह रावत, डॉ0 आलोक कंडारी, डॉ0 रजनी बाला, डॉ0 विकास राणा सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here