नई शिक्षा नीति 2020 के संदर्भ में महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में किया दो दिवसीय अभिमुखीकरण कार्यशाला का आयोजन

137
नई शिक्षा नीति 2020 के संदर्भ में महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में किया दो दिवसीय अभिमुखीकरण कार्यशाला का आयोजन
नई शिक्षा नीति 2020 के संदर्भ में महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में किया दो दिवसीय अभिमुखीकरण कार्यशाला का आयोजन

नई शिक्षा नीति 2020 के संदर्भ में राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय अगस्त्यमुनि (रुद्रप्रयाग) में महाविद्यालय की प्राचार्य प्रो. पुष्पा नेगी के मार्गदर्शन में स्नातक प्रथम सेमेस्टर के छात्र -छात्राओं के लिए दो दिवसीय अभिमुखीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया। प्राचार्य प्रो. पुष्पा नेगी द्वारा कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए छात्र – छात्राओं को N.E.P. 2020 के उद्देश्य एवं लाभ से परिचित कराया गया।

कार्यशाला के मुख्य वक्ता गणित के प्राध्यापक डॉ. सुधीर पेटवाल के द्वारा प्रथम दिवस विज्ञान संकाय, वाणिज्य संकाय एवं द्वितीय दिवस कला संकाय के छात्र-छात्राओं को नई शिक्षा नीति की जानकारी दी गयी, जिसमें स्नातक प्रथम सेमेस्टर से छठवें सेमेस्टर तक मेजर कोर, मेजर इलेक्टिव, माइनर इलेक्टिव, वोकेशनल – स्किल डवलपमेंट एवं को – करिकुलम इत्यादि विषयों के चयन, अध्ययन, परीक्षा प्रक्रिया, क्रेडिट इत्यादि को विस्तार पूर्वक समझाया गया, साथ ही एन. ई. पी. 2020 का महत्त्व बताते हुए छात्र-छात्राओं की समस्याओं एवं जिज्ञासाओं का समाधान भी किया गया।

अभिमुखीकरण कार्यशाला में महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. पूनम भूषण, डॉ. सीताराम नैथानी, डॉ. वीरेंद्र प्रसाद, डॉ. राजेश कुमार, डॉ. ममता भट्ट, डॉ. दीप्ति राणा एवं डॉ. ममता थपलियाल ने भी एन.ई.पी. 2020 के सन्दर्भ में अपने विचार रखे ।

इस अवसर पर डॉ. ममता शर्मा, डॉ. नवीन चन्द्र खंडूरी, डॉ. कमलापति चमोली, डॉ. वी. के. शर्मा, डॉ. अंजना फर्स्वाण, डॉ. आबिदा, डॉ. निधि छाबड़ा, डॉ. चंद्रकला नेगी, डॉ. तनुजा मौर्य, डॉ. कृष्णा राणा, डॉ. कनिका बड़वाल, डॉ. गिरिजा रतूड़ी, डॉ. प्रकाश फोन्दनी, डॉ. सुनीता मिश्रा, डॉ. रुचिका कटियार, डॉ. दीपक पटेल एवं महाविद्यालय के स्नातक प्रथम सेमेस्टर के समस्त छात्र – छात्राएँ उपस्थित थे।

Comment