धनोल्टी के कूड़ा निस्तारण को लेकर जिलाधिकारी ने की अधिकारियों, व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों एवं अपशिष्ट प्रबन्धन संस्था के लोगों के साथ बैठक

धनोल्टी के कूड़ा निस्तारण को लेकर जिलाधिकारी ने की अधिकारियों, व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों एवं अपशिष्ट प्रबन्धन संस्था के लोगों के साथ बैठक
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

धनोल्टी के कूड़ा निस्तारण को लेकर जिलाधिकारी ने की अधिकारियों, व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों एवं अपशिष्ट प्रबन्धन संस्था के लोगों के साथ बैठक

नई टिहरी /16 मई 2024: धनोल्टी के कूड़ा निस्तारण को लेकर जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल द्वारा अधिकारियों, व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों एवं अपशिष्ट प्रबन्धन संस्था के लोगों के साथ बैठक की गई।

जिला कलेक्ट्रेट के वीसी कक्ष में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने धनोल्टी के कूड़ा निस्तारण को लेकर आईडल फांउडेशन संस्था को शीघ्र अपनी टीम जुटाने तथा किसी समस्या/मुद्दे के समाधान हेतु एसडीएम धनोल्टी से समन्वय करने को कहा गया। एसडीएम धनोल्टी को अपशिष्ट संग्रह स्थल हेतु वैकल्पिक व्यवस्था के लिए आलू फार्म में जगह चिन्ह्ति करने तथा स्थायी व्यवस्था हेतु अन्यत्र स्थल का भूमि हस्तान्तरण प्रस्ताव उपलब्ध कराने को कहा गया।

जिलाधिकारी ने कहा कि कूड़ा प्रबन्धन के लिए जन जागरूकता और जन सहभागिता जरूरी है। इसके लिए स्वयं सहायता समूह, महिला मंगल दल/युवक मंगल दल, सामाजिक संस्थाओं, पर्यावरण मित्रों, व्यापार मण्डल, ईको समिति, ग्राम पंचायतांे आदि सबको मिलकर काम करना होगा। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रारम्भिक तौर पर सीएसआर मद से संस्था के माध्यम से कार्य शुरू करवाया जा रहा है, आगे की व्यवस्था विभागीय अधिकारियों एवं स्थानीय लोगों के द्वारा व्यवस्थित की जानी आवश्यक है।

बैठक में धनोल्टी क्षेत्रान्तर्गत कच्चा मकान, पक्का मकान, होमस्टे, हाउस होल्ड, होटल, रेस्टोरेंट आदि का क्षमतानुसार यूजर चार्जेज की दरें तय की गई। कूड़ा निस्तारण के लिए कूड़ा वाहनर्, इंधन, ड्राइवर, मैनपॉवर, अनुदान, इधर-उधर कूड़ा फेंकने वालों के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही करने आदि को लेकर चर्चा की गई तथा अग्रिम कार्यवाही हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।

अपशिष्ट प्रबन्धन संस्था आईडल फांउडेशन के निदेशक आयुष ने धनोल्टी के कूड़ा निस्तारण को लेकर अवधारणा स्पष्ट करते हुए छः माह का प्रस्ताव प्रस्तुत किया, जिसके तहत अपशिष्ट का संग्रह, पृथक्करण, प्रबन्धन, जनजागरूकता, साइनेज, रिसर्च, दस्तावेजीकरण आदि अन्य कार्य किये जायेंगे।

उन्होंने कहा कि अपशिष्ट प्रबन्धन हेतु स्थानीय स्तर पर लोगों को सक्रिय कर मैनपॉवर के रूप में लिया जा सकता है, इससे उनकी आजीविका के साधन भी बढ़ेगे और योजना भी लम्बे समय के लिए कारगर सिद्ध होगी। व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों द्वारा अपशिष्ट संग्रह हेतु जगह उपलब्ध कराने की अपेक्षा की गई।

बैठक में पीडी डीआरडीए योगेश उपाध्याय, एसडीएम धनोल्टी मंजू राजपूत, बीडीओ सोहन लाल, कर अधिकारी जिला पंचायत सतीश चन्द्र बिजल्वाण, ग्राम प्रधान धनोल्टी नीरज बेलवाल, सचिव ईको पार्क मनोज उनियाल, अध्यक्ष व्यापार मण्डल धनोल्टी रघुवीर रमोला एवं महामंत्री जगदीश सेमवाल, ईको पार्क से कुलदीप नेगी सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Comment