थलीसैंण में पुरातन छात्र-छात्राओं एवं महाविद्यालय पुरातन छात्र समिति के सदस्यों की बैठक आयोजित

0
100
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

थलीसैंण में पुरातन छात्र-छात्राओं एवं महाविद्यालय पुरातन छात्र समिति के सदस्यों की बैठक आयोजित

पौड़ी से विक्रम सिंह रावत: राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, थलीसैंण में पुरातन छात्र-छात्राओं एवं महाविद्यालय पुरातन छात्र समिति के सदस्यों की एक बैठक ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों ही माध्यम से आयोजित की गयी, जिसकी अध्यक्षता करते हुए महाविद्यालय प्राचार्य डॉ० रेनू रानी बंसल ने कहा कि पुरातन छात्र-छात्राओं द्वारा महाविद्यालय के सर्वांगीण विकास में उनका योगदान अत्यन्त महत्वपूर्ण होगा। वे वर्तमान छात्र-छात्राओं के समक्ष स्वयं के उदहारण से आदर्श प्रस्तुत कर सकते है तथा उनके लिये प्रेरणा बन सकते है।

पूर्व छात्र डॉ अर्जुन सिंह असिस्टेंट प्रोफेसर इतिहास, हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय परिसर, नई टिहरी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए महाविद्यालय में तथा महाविद्यालय के बाहर अध्ययन के दौरान अपने व्यक्तिगत अनुभवों के आधार पर बताया कि शिक्षणेत्तर गतिविधियों में जब हम ठीक से प्रतिभाग नहीं करते है तो हमारे व्यक्तित्व का सम्पूर्ण विकास नहीं हो पाता, जिसके कारण उच्चतर संस्थाओं में बाहर अध्ययन या अन्य कार्य करते हुए हम स्वयं भी हीनता का अनुभव करते है तथा दूसरे भी हमें कम आंकते है।

जिला पंचायत सदस्य कु० अनुराधा ममगाईं ने महाविद्यालय की समस्याओं का निराकरण करने तथा विकास में सहयोगी बनने के प्रति अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की।

निवर्तमान ग्राम प्रधान श्रीमती विनीता नेगी ने सदैव महाविद्यालय में विकासात्मक गतिविधियों में सहयोग करने की बात की। इस अवसर पर पूर्व छात्र श्री योगेश ढौंडियाल, श्री सूरज सिंह एवं श्री गुरुदेव कठैत ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

पुरातन छात्र समागम में सर्वसम्मति से गठित कार्यकारणी इस प्रकार रही – कु० अनुराधा ममगाईं अध्यक्ष , श्रीमती विनीता देवी उपाध्यक्ष, डॉ अर्जुन सिंह सचिव, श्री योगेश ढौंडियाल सह-सचिव, कु० बबीता भण्डारी कोषाध्यक्ष, कु० सुरेशी, श्री अर्जुन कुमार, श्री प्रेम सिंह, श्रीमती सावित्री, श्री गुरुदेव, श्री सुनील कुमार , श्री नरेश चन्द्र, श्री पदम सिंह कार्यकारणी सदस्य चुने गए। इस कार्यक्रम का संचालन पुरातन छात्र प्रभारी डॉ० नवरत्न सिंह द्वारा किया गया।

इस कार्यक्रम में डॉ० छाया सिंह, डॉ० बिपेंद्र सिंह रावत , डॉ० निर्मला रावत, डॉ० अराधना सिंह, डॉ० सुधीर सिंह रावत, डॉ० दुदुन मेहता, डॉ० विवेक रावत, डॉ० विकास प्रताप सिंह, श्री अनिल, श्री बलबीर सिंह आदि उपस्थित रहें।

Comment