डबल इंजन की सरकार जनहित के हर मुद्दे पर फ्लॉप साबित हुई है: राकेश राणा

77
डबल इंजन की सरकार जनहित के हर मुद्दे पर फ्लॉप साबित हुई है: राकेश राणा
Listen to this article

डबल इंजन की सरकार जनहित के हर मुद्दे पर फ्लॉप साबित हुई है: राकेश राणा

नई टिहरी: जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा ने कहा कि डबल इंजन की सरकार जनहित के हर मुद्दे पर फ्लॉप साबित हुई है। जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा, लोक सभा मिडिया कॉर्डिनेटर श्री शान्ति प्रसाद भट्ट, जिला मिडिया कॉर्डिनेटर श्री जयवीर सिंह रावत प्रदेश कांग्रेस के महासचिव विजय गुनसोला, प्रदेश सचिव सैयद मुशर्रफ अली, मुरारीलाल खण्डवाल, ब्लॉक अध्यक्ष साहब सिंह सजवाण, महिला कांग्रेस की जिला अध्यक्ष आशा रावत, अनीता रावत, अनीता शाह शहर कांग्रेस के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पवार, पीसीसी सदस्य देवेंद्र नौटियाल सचिव गंगा भगत सिंह नेगी, गब्बर सिंह रावत ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में सबसे पहले टिहरी जिले के सभी उन कांग्रेस कार्यकर्ताओं का धन्यवाद किया जो देहरादून में कांग्रेस के “विराट कार्यकर्ता सम्मेलन” में पहुंचे और सम्मलेन को सफल बनाया तथा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मलिकार्जुन खड़गे जी के बुनियादी विचारो को सुना, श्री मलिकार्जुन खड़गे जी ने उतराखंड राज्य निर्माण में शहीद हुए आंदोलनकारियो को नमन किया और उन्हें श्रद्धांजली अर्पित की।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा “देवभूमि उत्तराखंड की धरती पवित्र धरती है। इस पवित्र धरा पर कई महापुषों और मनीषियों ने जन्म लिया है। प्रतापी राजा भरत का जन्म उत्तराखंड की इसी धरती पर पौडी जनपद के कण्वाश्रम में हुआ तथा उन्हीं के नाम से देश का नाम भारत पड़ा। अल्मोड़ा जनपद में जन्मे भारतीय सेना में प्रथम परमवीर चक्र विजेता कुमाऊं रेजिमेंट के मेजर सोमनाथ शर्मा तथा पौडी गढ़वाल में जन्मे पेशावर कांड के नायक वीर चन्द्रसिंह गढ़वाली इसी धरती पर जन्मे हैं।

चिपको आन्दोलन की जननी गौरा देवी ने भी इसी पवित्र धरती पर जन्म लिया है। मैं इस पवित्र धरती के साथ-साथ इन महानुभावों को भी नमन करता हूं। इसी के साथ उन महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों जिन्होंने देश की आजादी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई उन्हें भी सादर नमन करता हूं”।

केन्द्र एवं राज्य सरकार की विफलतायें:

बढती महंगाई

भाजपा की केन्द्र व राज्य सरकारे सभी क्षेत्रों में विफल साबित हुई हैं। आज महंगाई और भ्रष्टाचार अपने चरम पर हैं। रसोई गैस के दाम आम आदमी की पकड से दूर हो रहे हैं। कर्ज के बोझ से दबे किसान आत्महत्या कर रहे हैं।

महिला अपराध एवं अंकिता भण्डारी प्रकरण

महिला अपराध के क्षेत्र में उत्तराखंड नौ हिमालयी राज्यों में सर्वोपरि है। एनसीआरबी की रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2022-23 में 907 महिलाओं के साथ दुष्कर्म और 778 महिलाओं के साथ अपहरण की घटनाएं घटित हुई हैं। अंकिता भंडारी प्रकरण जैसे जघन्य हत्याकांड ने देवभूमि की पवित्र धरती को कलंकित किया है।

काग्रेस पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राहुल गांधी जी ने भी अपनी भारत जोड़ो यात्रा के दौरान अंकिता भडारी प्रकरण को लेकर भाजपा सरकार को जगाने का काम किया। अंकिता भंडारी प्रकरण में भाजपा नेताओं की संलिप्ता तथा इस अपराध में शामिल वीआईपी का नाम अभी तक उजागर नहीं हो पाया है।

जोशीमठ आपदा

उत्तराखंड का आपदाओं के साथ चोली दामन का साथ है। विगत वर्ष जोशीमठ में आई आपदा का आज तक समाधान नहीं हो पाया है। चमोली के रैणी में हुए सुरंग हादसे से भाजपा सरकार ने सबक नहीं लिया जिसकी परिणति सिलक्यारा टनल हादसे के रूप में हुई और राज्य सरकार के मुखिया ने अपनी गलतियों पर पर्दा डालने के लिए बचाव दल के कर्मचारियों द्वारा दिन-रात किए गए कामों का श्रेय लेने की मंशा से वहां पर डेरा जमाया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हर दूसरे तीसरे महीने उत्तराखंड में धार्मिक तीर्थाटन और सैर सपाटे के लिए आते तो रहते हैं परतु उत्तराखंड के प्रति उनका कोई लगाव दिखाई नहीं पड़ता अगर होता तो पर्यावरण में योगदान देने के लिए उत्तराखंड को ग्रीन बोनस जरूर मिलता।

सनातन धर्म की बात करने वाली भाजपा के शासन में केदारनाथ जैसे पवित्र मन्दिर में सत्ताधारी दल के लोगों द्वारा कई कुन्तल सोने की चोरी की जाती है।

बेरोजगारी एवं अग्निवीर योजना वर्तमान में उत्तराखंड राज्य की बेरोजगारी दर 8.8 प्रतिशत है।

अग्निवीर योजना के नाम पर सबसे अधिक उत्तराखंड राज्य के नौजवानों के साथ धोखा हुआ है। उत्तराखंड राज्य के निवासियों की आय का मुख्य स्रोत भारतीय सेना में सेवा का रहा है।

भारतीय सेना की कुमाऊ रेजिमेंट तथा गढ़वाल राइफल के जवानों का देश की सीमाओं की रक्षा में प्रमुख योगदान रहा है। उत्तराखंड के लगभग प्रत्येक परिवार से एक नौजवान सेना में भर्ती होकर देश की सेवा करता है।

भाजपा सरकार ने अग्निवीर योजना लागू कर सेना में भर्ती होने का सपना संजोये युवाओं के सपनों को चकना चूर कर दिया है।

रोजगार के अभाव में हो रहे पलायन से पर्वतीय क्षेत्र के गांव लगातार वीरान हो रहे हैं। राज्य सरकार पलायन रोकने में पूरी तरह नाकाम रही है।

सरकारी विभागों की भर्तियों में भ्रष्टाचार

उत्तराखंड राज्य में सरकारी विभागों की भर्तियां भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ती जा रही है। लोक सेवा आयोग, अधीनस्थ सेवा चयन आयोग, सहकारिता, पुलिस, विधानसभा सचिवालय जैसे संस्थानों की भर्तियों में सत्ताधारी दल के लोगों ने संलिप्त होकर भारी भ्रष्टाचार को अंजाम देकर राज्य के नौजवानों के साथ छलावा किया है।

2017 में सरकार गठन के समय प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री ने जनता से वादा किया था कि प्रदेश में भ्रष्टाचार रोकने के लिए 100 दिन के भीतर मजबूत लोकायुक्त लाया जायेगा, लेकिन सात साल बाद भी लोकायुक्त गठन में राज्य सरकार नाकामयाब साबित हुई।

राज्य में नशे का विस्तार

उत्तराखंड की भाजपा सरकार द्वारा हर घर में शराब पहुंचाने के लिए मोबाईल वैनों से शराब की होम डिलीवरी कराई जा रही है। शराब विक्री बढ़ाने की नीयत से स्टेट हाईवे को जिला मार्गों में तब्दील कर दिया गया। धर्म नगरियों में भी जहां शराब प्रतिबन्धित थी वहां भी शराब की दुकाने खोली गई।

स्वास्थ्य सुविधा भाजपा के राज में खस्ताहाल हो रही स्वास्थ्य सेवाओं की वजह से मातृ शक्ति को सड़कों पर तथा शौचालयों में प्रसव करने को मजबर होना पड़ रहा है। साथी लगातार कई बहन बेटियों ने जच्चा बच्चा सहित परसव के दौरान उपचार न मिलने के वजह से दम तोड़ दिए।

Comment