टिहरी विधायक की वेबसाइट पर विकास हेतु दें अपने सुझाव या करें शिकायत दर्ज

    टिहरी विधायक की वेबसाइट पर विकास हेतु दें अपने सुझाव या करें शिकायत दर्ज
    play icon Listen to this article

    क्षेत्रीय विकास व राजनीति में सर्वाधिक सक्रिय माने जाने वाले टिहरी विधायक डॉ. धन सिंह नेगी ने जन समस्याओं के निस्तारण एवं विधान सभा क्षेत्र के सुनियोजित विकास हेतु अपनी व्यक्तिगत वेबसाइट को लांच कर जनता से सीधे जुड़ने का नायाब तरीका अख्तियार किया है। टिहरी विधायक की वेबसाइट पर विकास हेतु दें अपने सुझाव या करें शिकायत दर्ज, मगर अब यह website बंद चल रही है।

    सरहद का साक्षी, नई टिहरी

    टिहरी विधायक की व्यक्तिगत वेबसाइट का यूआरएल https://dhansinghnegi.com है। इस वेबसाइट पर आप अपने सुझाव एवं शिकायतें दर्ज कर सकते हैं। आपकी शिकायतों का त्वरित समाधान मिल सकेगा, इसके अलावा आपके द्वारा दिए गए सुझावों पर क्षेत्रीय विधायक डॉ. धन सिंह नेगी शीघ्र अमल करके सुझावो के मूर्तरूप देने का प्रयास कर रहे हैं। इस वेबसाइट पर उनकी व्यक्तिगत जीवनी के अलावा विधायी उपलब्धि, वैश्विक अनुभव, मीडिया गैलरी, शिकायत पुस्तिका एवं सुझाव, कोरोना वैक्सीनेशन अद्यतन आदि कैटेगरी विवरण दिया गया है।

    पौराणिक शिवालय छाती में धर्मशाला व टिन सेड पाण्डाल के बाद अब विधायक निधि से बन रहा है पक्का फर्श

    पौराणिक शिवालय छाती में धर्मशाला व टिन सेड पाण्डाल के बाद अब विधायक निधि से बन रहा है पक्का फर्श

    पौराणिक शिवालय छाती में धर्मशाला व टिन सेड पाण्डाल के बाद अब विधायक निधि से बन रहा है पक्का फर्श

    मखलोगी प्रखण्ड के पौराणिक शिवालय ग्राम छाती के लिए स्थानीय विधायक डॉ. धन सिंह नेगी योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है। आजादी के बाद से अब तक की विधायकी व सांसदी में से केवल दो ही ऐसे विधायक व जिला पंचायत सदस्य निकले हैं, जिन्होंने पौराणिक शिवालय छाती के लिए कुछ योगदान देने का प्रयास किया है। इस सुप्रसिद्ध शिवालय के पौराणिक जीर्ण-शीर्ण मन्दिर को वर्षों पूर्व जब मखलोगी का यह इलाका नरेन्द्रनगर विधान सभा में हुआ करता था, उस दौरान क्षेत्रीय विधायक सुबोध उनियाल द्वारा एक लाख रुपए की धनराशि अवमुक्त कर मन्दिर का जीर्णोद्धार करवाया था। उस समय उक्त मन्दिर के निर्माण में कमल सिंह चौहान द्वारा टोलीनायक की भूमिका का निर्वहन किया गया।

    क्षेत्रीय विधायक सुबोध उनियाल द्वारा एक लाख रुपए की धनराशि अवमुक्त कर मन्दिर का जीर्णोद्धार करवाया था
    पौराणिक शिवालय श्री महादेव ग्राम छाती

    जिला पंचायत सदस्यों का योगदान

    तदोपरान्त गौंसारी जिला पंचायत वार्ड से आदित्य कोठारी जिला पंचायत सदस्य चुने गए, उन्होंने भी अपने कार्यकाल के दौरान मन्दिर की सुरक्षा दीवारी हेतु जिला पंचायत निधि से 75 हजार की धनराशि प्रदान कर मन्दिर को सुसज्जित करने का प्रयास किया गया था। जिसमें मोहन सिंह धनोला टोलीनायक रहे। इसके बाद जिला पंचायत सदस्य गौंसारी वार्ड सत्येन्द्र सिंह धनोला ने मन्दिर प्रांगण में विशाल टिन सेड पाण्डाल का निर्माण करवाया। इस पाण्डाल का निर्माण इसलिए भी आवश्यक था, कि इस पौराणिक शिवालय में हर साल तरह-तरह के धार्मिक कार्यों के साथ धार्मिक गतिविधियों का संचालन एवं विशाल भण्डारे के साथ शिव पुराण आदि कार्यक्रम भी सम्पादित किए जाते रहते हैं और इस दौरान शिवालय में शिवभक्तों का तांता लगा रहता है। तत्समय बरसात आदि के कारण शिवभक्तों को शिवालय में जागरण आदि की समस्याओं से जूझना पड़ता था। मगर अब पाण्डाल निर्माण से शिवभक्तों को इस समस्या के निजात मिल गई है।

    पाण्डाल निर्माण के बाद पक्के फर्श की समस्या मुंह बांये खड़ी थी, जिस परेशानी को क्षेत्रीय विधायक डॉ. धन सिंह नेगी ने समझा और अपनी विधायक निधि से धनराशि अवमुक्त कर पाण्डाल निर्माण कार्य आरम्भ करवाया। वर्तमान में मोहन सिंह धनोला टोलीनायक के निर्देशन में पाण्डाल के फर्श पक्कीकरण का कार्य गतिमान है। खडिंजा बंधने के बाद फर्श का पक्कीकरण किया जा रहा है। इस हेतु विधायक निधि के तहत वांछित धनराशि आबंटित की गई है।

    स्थानीय ग्रामवासियों एवं शिवभक्तों ने पौराणिक शिवालय छाती में करवाये गए विकास कार्यों की सराहना करते हुए योगदान कर्ता क्षेत्रीय जन-प्रतिनिधियों का आभार प्रकट किया है।