टिहरी जिले के इस इंटर कालेज में प्रधानाचार्य को क्यों बजानी पड़ती है घंटी?

टिहरी जिले के इस इंटर कालेज में प्रधानाचार्य को क्यों बजानी पड़ती है घंटी?
play icon Listen to this article

यूं तो किसी भी विद्यालय में घंटी बजाने के लिए परिचारक अथवा सहायक नियुक्त रहते हैं। मगर टिहरी जनपद में ऐसे भी विद्यालय हैं जहां परिचारक तो नियुक्त है, मगर विद्यालय के प्रधानाचार्य का भी घंटी बजाना विवशता है। जानिए! जिले के इस इंटर कालेज में प्रधानाचार्य को क्यों बजानी पड़ती है घंटी?

सरहद का साक्षी, डी.पी.उनियाल @गजा

चम्बा प्रखण्ड में धाअकरिया पट्टी अंतर्गत केशरधार नैचोली में इंटर कालेज है। इस कालेज में पिछले दो सालों से एक ही परिचारक कार्यरत होने के कारण जहां परिचारक राम प्रसाद पंत को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है वहीं दूसरी ओर कार्यरत परिचारक ने अगर एक दिन का आकस्मिक अवकाश ले लिया तो प्रभारी प्रधानाचार्य नेपाल सिंह रावत को ही सुबह प्रार्थना से लेकर हर वादन की घंटी स्वयं बजानी पड़ती है।

अभिभावक संघ अध्यक्ष पूजा पुण्डीर ने बताया कि विद्यालय प्रधानाचार्य नेपाल सिंह रावत को विद्यालय व्यवस्था से लेकर विभागीय अधिकारियों की सूचनाएं, मध्यान्ह भोजन व्यवस्था, अपना विषय पढ़ाने समेत अनेक परेशानियों से गुजरना पड़ता है। परिचारक राम प्रसाद पंत को दिन रात ड्यूटी पर तैनात रहना पड़ता है, क्योंकि दिन में विद्यालय व्यवस्था तथा रात में विद्यालय के सामान की सुरक्षा हेतु रहना पड़ता है। उन्होंने बताया कि दूसरे परिचारक के सेवानिवृत्त होने के बाद राम प्रसाद पंत अकेला रह गया है। ऐसे में राम प्रसाद पंत को अवकाश लेना भी मुश्किल हो जाता है।

प्रभारी प्रधानाचार्य नेपाल सिंह रावत से जब इस सम्बन्ध में बात की गई तो उन्होंने बताया कि यदि परिचारक ने अवकाश ले लिया तो सारा काम मुझे करना पड़ता है क्योंकि छात्रों को नहीं कहा जा सकता है, विद्यालय में अनेक समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। कम्प्यूटर कक्ष व पठन-पाठन के लिए कक्षा कक्षों की जरूरत है। अभिभावक संघ अध्यक्ष श्रीमति पूजा पुंडीर ने कहा कि अपने स्तर से वह प्रशासन को सूचना दे रही हैं। प्रगतिशील जन विकास संगठन गजा टिहरी गढ़वाल के अध्यक्ष दिनेश प्रसाद उनियाल ने शिक्षा विभाग के आला अधिकारियों से निवेदन किया कि परिचारक की तैनाती की जाय।

अभिभावक संघ अध्यक्ष पूजा पुण्डीर ने बताया कि विद्यालय हेतु दफ्तरी का पद सृजित पर रिक्त है, परिचारक के तीन पद हैं लेकिन एक ही कार्यरत है एक स्वच्छक का पद रिक्त है तथा एलटी अध्यापक कला विषय का पद रिक्त है। यही वजह है कि राजकीय इण्टर कालेज केशरधार नैचोली में प्रभारी प्रधानाचार्य को घंटी बजाने के लिए विवश होना पड़ता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here