जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण समिति की बैठक जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अध्यक्षता में आयोजित

जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण समिति की बैठक जिला जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अध्यक्षता में आयोजित
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण समिति की बैठक जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अध्यक्षता में आयोजित

नई टिहरी/ 01 मई 2024: जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण समिति की बैठक जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अध्यक्षता में आयोजित की गई।

जिला सभागार नई टिहरी में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं की अभाव में किसी भी महिला और बच्चे की मृत्यु न हो, स्वास्थ्य विभाग यह सुनिश्चित कर लें। घुत्तू पीएचसी में डिलीवरी प्वाईंट बनाने, होम डिलीवरी को शून्य करने, आरबीएसके टीम द्वारा चिन्ह्ति बच्चों को डाटा उपलब्ध कराने तथा ऐसे बच्चों की सहायता करने, सीएचओ की रिपोर्ट भेजने तथा लापरवाही बरतने वालों पर कार्यवाही करने, राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य मिशन के तहत नशामुक्ति को लेकर विशेष फोकस करते हुए काउंसिलिंग करने तथा काउंसलरों की सीएमओ के साथ बैठक करवाने, सीएमओ को आशा कार्यकत्रियांे एवं एएनएम की एक्टीविटियों को बढ़ाने, सीएचओ और एएनएम को स्क्रीनिंग/विजिट हेतु रेण्डमली टास्क देने को कहा गया। सीडीओ को सभी सीएचसी का निरीक्षण कराने को कहा गया। सभी एमओआईसी को जिला योजना के अन्तर्गत किये जाने वाले कार्याें का प्लान बनाकर उपलब्ध कराने को कहा गया।

अनीमिया मुक्त भारत कार्यायोजना की जानकारी लेते हुए जिलाधिकारी ने अनीमिया से ग्रस्त पाये जाने वालों के उपचार हेतु सीएमओ को हर कैटेगरी की एसओपी बनाकर कार्य करने के निर्देश दिये। अनीमिया से ग्रस्त लोगों का पता लगाने के लिए एएनएम, आरबीएसके टीम और सीएचओ के माध्यम से डाडा तैयार करने, उपचार करने तथा उनकी मॉनिटरिंग हेतु अधिकारियों को नामित करने को कहा गया। एमओआईसी को अपने-अपने ब्लॉक में लक्ष्य बनाकर कार्य करने के निर्देश दिये गये।

जिलाधिकारी ने एएनसी जांच के संबंध में ब्लॉक वाइज ग्राफ बनाने तथा देवप्रयाग और जौनपुर में एएनसी जांच प्रतिशत कम होने का कारण पर उचित जवाब न मिलने पर सीएमओ को संबंधित एमओआईसी का स्पष्टीकरण तलब करने को कहा गया।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी मनु जैन ने बताया कि अनीमिया मुक्त भारत के अन्तर्गत टी-3 (परीक्षण, उपचार और बातचीत) रणनीति बनाकर 10 दिन का विशेष अभियान चलाकर डिजिटल हिमोग्लोबिन जांच करने जा रहे हैं। अभियान के तहत 06 माह से 19 वर्ष के किशोर (लड़के/ लड़कियों) गर्भवती/गैर गर्भवती महिलाओं की प्रतिदिन स्क्रीनिंग/परीक्षण कर उनका उपचार किया जायेगा। अनीमिया से ग्रस्त पाये जाने वालों का 02 माह बाद पुनः परीक्षण किया जायेगा। एएनसी जांच के संबंध में सीएमओ ने बताया कि वर्ष 2023-24 में 78.70 प्रतिशत जांचे की गई।

सीएमएस अमित राय ने बताया कि ई-संजीवनी सेवा/टैली कन्सल्टेशन में अपै्रल 2020 से मार्च, 2024 तक 88 हजार 221 चिकित्सा/सलाह उपचार किया गया। जिला क्षय रोग अधिकारी जितेन्द्र भण्डारी ने बताया कि जनपद में डीबीटी/निक्षय पोषण योजना का 81 प्रतिशत वितरण हो चुका है, जिस पर जिलाधिकारी ने एलडीएम से समन्वय कर शतप्रतिशत करने को कहा।

उन्होंने बताया कि जनपद में 415 गांव, 146 ग्राम पंचायतें, 02 वार्ड टीवी मुक्त हो चुके हैं। बैठक में अल्ट्रासांउड प्रेगनेंसी रिपोर्ट, डेंगू रोधी कार्य, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, डायलिसिस यूनिट आदि पर भी चर्चा की गई।

बैठक में सीडीओ अभिषेक त्रिपाठी, सभी एमओआईसी, एनएचएम और सीएमओ कार्यालय के अधिकारी/कर्मचारी सहित समिति के अन्य सदस्य उपस्थित रहे।

Comment