जल संस्थान एवं जल निगम के अधिकारियों ने जनपद में पेयजल आपूर्ति को लेकर प्रेस को किया ब्रीफ

0
48
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

जल संस्थान एवं जल निगम के अधिकारियों ने जनपद में पेयजल आपूर्ति को लेकर प्रेस को किया ब्रीफ

टिहरी/ 10 जून, 2024: जल संस्थान एवं जल निगम के अधिकारियों द्वारा जनपद में पेयजल आपूर्ति के संबंध में जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल के निर्देशन में सोमवार को प्रेस को ब्रीफ किया गया।

अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान नई टिहरी प्रशान्त भारद्वाज ने बताया कि वर्तमान में कोटेश्वर झील का जल स्तर कम होने तथा बांध क्षेत्र में 01 जून से टीएचडीसी के पीएसपी (पम्प स्टोरेज प्लांट) परियोजना के सिविल कार्य होने के कारण नई टिहरी पम्पिंग पेयजल योजना मे पर्याप्त पेयजल उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। नई टिहरी शहर में प्रतिदिन 6 एमएलडी पानी की आवश्यकता है, जबकि 3 एमएलडी पानी प्राप्त हो पा रहा है।

शहर में व्यवस्थित रूप से पेयजल आपूर्ति हेतु शहर को 08 जोन में बांटकर रोस्टर वाइज प्रतिदिन एक जोन को छोड़कर जलापूर्ति की जा रही है। साथ ही जिस दिन जिस जोन में पेयजल आपूर्ति बन्द रहती है उस दिन उन स्थानों पर 06 टैंकरों द्वारा पेयजल की वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है। बढ़ती गर्मी और पानी की खपत को देखते हुए आवश्यकतानुसार पानी के टैंकर बढ़ाये जायेंगे। 30 जून तक जीरो प्वांइट इनटेक प्रभावित रहेगा।

उन्होंने बताया कि सारजूला में लगभग 03 एमएलडी का वाटर ट्रीटमंेट प्लांट है तथा मांग 02 एमएलडी की है। सारजूला में 22 गांवों को प्रतिदिन व्यवस्थित रूप से पेयजल आपूर्ति हो रही है तथा वर्तमान में वहां पर कोई दिक्कत नहीं है। उनके द्वारा पेयजल हेतु टीएचडीसी से हो रही फण्डिंग के संबंध में भी जानकारी दी गई।

मीडिया बन्धुओं द्वारा अपने-अपने सुझाव देते हुए कहा कि रोस्टर प्रक्रिया को खत्म कर सप्ताह में एक दिन सभी जगह पेयजल आपूर्ति बन्द रखकर शेष दिनों में पर्याप्त पानी सप्लाई किया जाय, ताकि तीसरी मंजिल तक पानी पहुंच सके और सभी को जलापूर्ति हो सके। साथ ही अनियमित जलापूर्ति को लेकर जिन फिटरों की शिकायत प्राप्त हो रही हैं, उन्हें परिवर्तित किया जाय। इस पर अधिशासी अभियन्ता ने कहा कि पानी सप्लाई के सुझाव पर योजना बनायेंगे तथा किसी कार्मिक की शिकायत आने पर आवश्यक कार्रवाई अमल लाई जायेगी।

अधिशासी अभियन्ता जल निगम चम्बा के.एन. सेमवाल ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में जल जीवन मिशन के अन्तर्गत घर-घर कनेक्शन दिये गये हैं। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों मंे स्रोतों के स्राव कम होने के चलते मांग के अनुरूप टैंकरों से वैकल्पिक जलापूर्ति की जा रही है। चम्बा के लिए नई योजना का प्रस्ताव बनाकर स्वीकृति हेतु शासन को भेजा गया है। काणाताल में नई योजना सुरकण्डा देवी पेयजल योजना शुरू हो चुकी है, जिससे काणाताल और आस-पास के क्षेत्रों में राहत मिली है। कैम्पटी को मसूरी पेयजल योजना से जोड़ा गया है तथा एक सप्ताह से मार्केट एरिया में पेयजल आपूर्ति की जा रही है।

अधिशासी अभियंता जल संस्थान देवप्रयाग नरेश पाल ने बताया कि चारधाम यात्रा मार्ग ब्रह्मपुरी से कीर्तिनगर तक 07 वॉटर ए.टी.एम., 02 वॉटर प्यूरिफायर, 02 स्टैंड पोस्ट, 65 हैंड पम्प और 19 टीटीएसपी सुचारू रूप संचालित हो रहे हैं, जिनकी नियमित मॉनिटरिंग की जा रही है। झण्डीधार पेयजल योजना में नियमित पम्पिंग हो रही है।

इस अवसर पर अधिशासी अभियन्ता जल निगम मुनिकीरेती प्रवीण शाह सहित मीडिया प्रतिनिधि मौजूद रहे।

Comment