जन स्वास्थ्य परीक्षण को गांव-गांव जायेंगे CHO, स्वास्थ्य मंत्री ने किया ‘जन आरोग्य अभियान’ का शुभारम्भ

जन स्वास्थ्य परीक्षण को गांव-गांव जायेंगे C.H.O. स्वास्थ्य मंत्री ने किया ‘जन आरोग्य अभियान’ का शुभारम्भ
play icon Listen to this article

प्रदेशभर में एक माह तक चलेगा स्वास्थ्य अभियान

तम्बाकू मुक्त एवं नेत्रदान अभियान के प्रति भी लोगों को जागरूक करेंगे CHO

देहरादून: समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाने के उद्देश्य से राज्य स्तरीय ‘जन आरोग्य अभियान’ का शुभारम्भ किया गया है, जो कि प्रदेशभर में एक माह तक संचालित किया जायेगा। इस अभियान के अंतर्गत हेल्थ एंड वैलनेस सेंटरों पर तैनात सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी (CHO) अपने-अपने क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गांवों में जाकर आम लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण करेंगे, साथ ही टीबी मरीजों का चिन्हिकरण, नेत्र परीक्षण, तम्बाकू मुक्त एवं नेत्रदान अभियान के प्रति भी लोगों को जागरूक करेंगे। इसके अलावा CHO आयुष्मान कार्ड एवं Digital health ID बनाने में भी आम लोगों का सहयोग करेंगे।

चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने आज स्वास्थ्य महानिदेशालय देहरादून में राज्य स्तरीय ‘जन आरोग्य अभियान’ का शुभारम्भ किया। ‘एक कदम स्वस्थ जीवन की ओर’ विषयक यह जन आरोग्य अभियान प्रदेशभर में एक माह तक संचालित किया जायेगा। डॉ रावत ने बताया कि समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाने के लिये राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। उन्होंने बताया कि इस अभियान के अंतर्गत घर-घर जाकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण करने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित विभिन्न स्वास्थ्य योजनाओं के प्रति जागरूक किया जायेगा, ताकि आम जनमानस को गम्भीर रोगों से बचाया जा सके। इसके लिये हेल्थ एंड वैलनेस सेंटरों पर तैनात 940 सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों (CHO) को अपने आस-पास के 10-10 गांवों में जाकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण करेंगे। इसके लिये CHO ग्राम प्रधान एवं आशा कार्यकत्रियों को 4 दिन पहले गांव में आने की सूचना देंगे, ताकि ग्राम पंचायत भवन में अधिक से अधिक लोग स्वास्थ्य परीक्षण के लिये पहुंच सके।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि इस अभियान के अंतर्गत CHO गांवों में लोगों की मधुमेह, उच्च रक्तचाप, मुख एवं स्तन कैंसर सहित अन्य गैर संचारी रोगों की जांच करेंगे। इसके अलावा लोगों का नेत्र परीक्षण कर मोतियाबिंद के मरीजों को निःशुल्क ऑपरेशन के लिये प्रोत्साहित करेंगे साथ ही टीबी मरीजों का भी चिन्हिकरण करेंगे। उन्होंने बताया कि अभियान में CHO तम्बाकू मुक्त एवं नेत्रदान अभियान के प्रति भी लोगों को जागरूक करेंगे। आयुष्मान कार्ड एवं डिजिटल हेल्थ आईडी बनाने के लिये लोगों को जागरूक करेंगे।

बदरीनाथ धाम में 50 व केदारनाथ में 30 बेड का अस्पताल अगली यात्रा सीजन तक तैयार कर दिया जायेगा

विभागीय मंत्री ने बताया कि प्रदेश में लगभग 26 लाख लोगों की डिजिटल हेल्थ आईडी बन चुकी है। शीघ्र ही शत- प्रतिशत लोगों की डिजिटल हेल्थ आईडी बनाई जायेगी। उन्होंने सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों एवं स्वास्थ्य कर्मियों को भी अपनी-अपनी डिजिटल हेल्थ आईडी बनाने को कहा। डॉ रावत ने कहा कि सूबे में चार धाम यात्रा मार्गों पर स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत किया जायेगा। इसके लिये बदरीनाथ धाम में 50 बेड का अस्पताल जबकि केदारनाथ में 30 बेड का अस्पताल अगली यात्रा सीजन तक तैयार कर दिया जायेगा।

कार्यक्रम में महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ शैलजा भट्ट, अपर सचिव स्वास्थ्य अमनदीप कौर, संयुक्त निदेशक डॉ आरपी खंडूडी, डॉ भागीरथी जंगपांगी, डॉ भारती राणा, सीएमओ देहरादून डॉ मनोज उप्रेती, डॉ मयंक बडोला, डॉ फरीद सहित देहरादून जनपद के समस्त सीएचओ उपस्थित रहे जबकि अन्य जनपदों के मुख्य चिकित्साधिकारी एवं सीएचओ ने वर्चुअल माध्यम से कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here