चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं को लेकर जिलाधिकारी टिहरी ने भद्रकाली में परिवहन विभाग की चेकिंग पोस्ट एवं पर्यटक पुलिस सहायता केंद्र का स्थलीय निरीक्षण कर यात्रा व्यवस्थाओं का लिया जायजा

0
47
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं को लेकर जिलाधिकारी टिहरी ने भद्रकाली में परिवहन विभाग की चेकिंग पोस्ट एवं पर्यटक पुलिस सहायता केंद्र का स्थलीय निरीक्षण कर यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लिया

नई टिहरी/ 17 मई 2024: चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं को लेकर जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल ने आज शुक्रवार को भद्रकाली में परिवहन विभाग की चेकिंग पोस्ट एवं पर्यटक पुलिस सहायता केंद्र का स्थलीय निरीक्षण कर यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने परिवहन विभाग की चेकिंग पोस्ट में यात्री चेकिंग रजिस्टर, गाड़ी चेकिंग रजिस्टर का निरीक्षण किया तथा आज सुबह से यात्रा पर भेजे गए और वापस किए गए वाहनों की जानकारी ली। एआरटीओ को बिना रजिस्ट्रेशन की कोई भी गाड़ी आगे ना भेजने तथा बिना हेलमेट के वाहन सवारियों के चालान करने को कहा गया।

चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं को लेकर जिलाधिकारी टिहरी ने भद्रकाली में परिवहन विभाग की चेकिंग पोस्ट एवं पर्यटक पुलिस सहायता केंद्र का स्थलीय निरीक्षण कर यात्रा व्यवस्थाओं का लिया जायजा पर्यटक पुलिस सहायता केन्द्र में जिलाधिकारी ने आज सुबह से गंगोत्री, यमनोत्री, बद्रीनाथ तथा केदारनाथ यात्रा पर भेजे गए वाहनों और तिथि से पहले आये वाहनों को वापिस भेजने संबंधी जानकारी ली । लोनिवि के अधिकारी को पर्यटक पुलिस सहायता केन्द्र में यात्री चेकिंग टेंट काउंटर, टेबिल बढ़ाने हेतु निर्देश दिए गए।

जिलाधिकारी ने एएसपी को ट्रैफिक व्यवस्था बनाए रखने तथा प्लान से गाड़ियों का आवागमन करने के निर्देश दिये, ताकि जाम की स्थिति से यात्रियों को कोई असुविधा न हो। इस दौरान जिलाधिकारी ने चारधाम यात्रियों/श्रद्धालुओं से वार्ता की तथा सुगम, सफल यात्रा हेतु उन्हें शुभकामना दी।

इस मौक पर एएसपी जे आर जोशी, एसडीएम देवेन्द्र नेगी, एआरटीओ सत्येन्द्र राज, सी ओ नरेन्द्रनगर अस्मिता ममगाई सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी / कर्मचारी उपस्थित रहे। जिलाधिकारी द्वारा अभी यात्रा मार्गों का निरीक्षण जारी है।

दूसरी ओर जिलाधिकारी ने किया एआरटीओ चेक पोस्ट ब्रह्मपुरी का निरीक्षण। सुव्यवस्थित एवं सुचारु यातायात व्यवस्था हेतु प्रत्येक दिन दो दिन पूर्व वाले पंजीकृत वाहनों को ही यात्रा धाम पर भेजने के निर्देश दिए, ताकि चारों धामों में सभी श्रद्धालु सुगमता से दर्शन कर सकें। जिलाधिकारी ने कहा कि उत्तराखंड की संस्कृति अतिथि देवो भव: की भावना से यात्रियों/श्रद्धालुओं के साथ व्यवहारिक कार्य करें।

Comment