घंटाकर्ण धाम ट्रस्ट के सदस्यों ने की जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज से भेंट दिया, घंटाकर्ण धाम मंदिर क्वीली डांडा में आने का निमंत्रण

195
घंटाकर्ण धाम ट्रस्ट के सदस्यों ने की जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज से भेंट दिया, घंटाकर्ण धाम मंदिर क्वीली डांडा में आने का निमंत्रण
घंटाकर्ण धाम ट्रस्ट के सदस्यों ने की जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज से भेंट दिया, घंटाकर्ण धाम मंदिर क्वीली डांडा में आने का निमंत्रण

घंटाकर्ण धाम ट्रस्ट के सदस्यों ने जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज से भेंट कर उन्हें घंटाकर्ण धाम मंदिर क्वीली डांडा में आने का निमंत्रण दिया।

पूज्य पाद अनन्त विभूषित ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज के प्रथम बार देहरादून आगमन पर स्वागत एवं अभिनन्दन समारोह में घंटाकर्ण धाम मंदिर के 21सदस्यों ने शंकराचार्य जी को घंटाकर्ण देवता की फोटो स्मृति चिन्ह भेंट किया तथा घंडियाल धाम में आने का निमंत्रण दिया। घंटाकर्ण धाम ट्रस्ट के 21सदस्य देवता के पश्वा कुलबीर सिंह सजवाण तथा अध्यक्ष विजय प्रकाश विजल्वाण व गंगोत्री के पूर्व विधायक विजयपाल सिंह सजवाण के नेतृत्व में शंकराचार्य जी के अभिनंदन समारोह में शामिल होने गया।

घंडियाल डांडा मंदिर क्वीली के सदस्यों कुलबीर सिंह सजवाण, विजय प्रकाश विजल्वाण, विजयपाल सिंह सजवाण, डा. जगमोहन सिंह सजवाण, अशोक विजल्वाण, मान सिंह चौहान, दिनेश प्रसाद उनियाल, अमित सजवाण, बुद्धि सिंह रावत, धूम सिंह चौहान, विनोद विजल्वाण, दिनेश सेमल्टी सहित अन्य लोगों ने स्वागत समारोह में शिरकत की।

शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज को ढोल नगाड़ों, रणसिंघे व कलश यात्रा माल्यार्पण करते हुए पुष्प वर्षा करते हुए शंकराचार्य भवन लाया गया जहां पर उनके स्वागत में भजन कीर्तन के साथ अभिनंदन किया गया, शंकराचार्य जी ने अपनी श्रीमुख वाणी से सम्बोधन करते हुए कहा कि आज के युग में धर्म की रक्षा जरुरी है, उपनिषदों का सार देते हुए उन्होंने कहा कि धर्म से ही सनातन धर्म संरक्षण होगा, तथा विश्व कल्याण होगा।

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में प्रतापनगर के पूर्व विधायक विक्रम सिंह नेगी, गिरबीर सिंह, सत्येन्द्र सिंह सजवाण, ज्योति सिंह, सुरेन्द्र दत्त विजल्वाण, त्रिलोक सिंह, विनोद विजल्वाण सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे। शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज का आशीर्वाद लेने सैकड़ों लोगों की भीड़ लगी रही।

Comment