गजा मेले में उमड़ा दर्शकों का जन सैलाव, लोगों ने जमकर खरीददारी करके उठाया लुफ्त

0
392
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

गजा मेले में उमड़ा दर्शकों का जन सैलाव, लोगों ने जमकर खरीददारी करके उठाया लुफ्त

गजा से डी.पी.उनियाल। गजा मेले में आज दर्शकों का भारी जन सैलाव उमड़ा, इस मौके पर दर्शकों ने जमकर खरीददारी करके मेले का लुफ्त उठाया। नरेन्द्रनगर विधानसभा क्षेत्र के गजा मेले में खूब भीड़ उमड़ी तथा लोगों ने जमकर खरीददारी की। यह मेला बैसाख माह की 12 गते को प्रतिवर्ष लगता है।

पौराणिक समय से चले आ रहे इस मेले में दशकों पहले निकटवर्ती गांवों के लोग ढोल नगाड़े के साथ मंडाण नाचते हुए आते थे लेकिन अब विगत कई वर्षों से गौंसारी गांव निवासी मेले की पूर्व संध्या पर ढोल दमाऊ के साथ बाजार स्थित घंडियाल मंदिर में आ कर पूजा अर्चना करते हुए क्षेत्र की खुशहाली, सुख समृद्धि और शांति सौहार्द की कामना करते हैं।

नगर पंचायत गजा में आयोजित इस मेले में शांति सौहार्द और यातायात व्यवस्था सुचारू बनाए जाने के लिए पुलिस चौकी प्रभारी नवीन नौटियाल भी सहयोगियों के साथ निगरानी रखे रहे । व्यापार सभा गजा की ओर से पंडाल लगाया गया।

बच्चों ने मेल़े में चरखी में बैठकर खूब मजा लिया वहीं जलेबी, पकोड़ी, गोल गप्पे, आइस क्रीम, गन्ने का जूस, चाउमिन, मोमोज, बर्तनों, रेडिमेड गारमेंट की खूब बिक्री हुई।

‘डांडा का थौल’ के नाम से प्रसिद्ध यह गजा का मेला पट्टी धारअकरिया, क्वीली, कुजणी के मध्य स्थान में होता है। नगर पंचायत गजा अध्यक्ष श्रीमति मीना खाती एवं व्यापार सभा गजा अध्यक्ष विनोद सिंह चौहान ने कहा कि पहाड़ों में होने वाले पौराणिक मेले हमारी पहचान और संस्कृति से रुबरु होते हैं।

Comment