कौशल और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के द्वारा महिलाओं को आर्थिक रूप से समृद्ध बनाया जा सकता है: ममता शर्मा

103
कौशल और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के द्वारा महिलाओं को आर्थिक रूप से समृद्ध बनाया जा सकता है: ममता शर्मा
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

कौशल और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा

अगस्त्यमुनि महाविद्यालय का NSS विशेष शिविर

कौशल और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के द्वारा महिलाओं को आर्थिक रूप से समृद्ध बनाया जा सकता है। यह बात कार्यक्रम अधिकारी NSS डॉ. ममता शर्मा ने “वर्तमान परिप्रेक्ष्य में महिलाओं की भूमिका” विषय पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कही।

कहा कि भारतवर्ष एक संपन्न परंपरा और सांस्कृतिक मूल्यों से समृद्ध देश है, जहां महिलाओं का समाज में प्रमुख स्थान रहा है। वर्तमान समय में महिलाएं विभिन्न स्वयं सहायता समूह के माध्यम से अपने आर्थिक पक्ष को मजबूत करते हुए देश के आर्थिक विकास में निरंतर अपना योगदान दे रही हैं।

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय अगस्त्यमुनि की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के तत्वावधान में पुराना बालिका छात्रावास, राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में आयोजित सात दिवसीय विशेष शिविर (दिन-रात) के द्वितीय दिवस का शुभारंभ प्रातः वंदना एवं व्यायाम के साथ हुआ।

इसके पश्चात चयनित स्थल जवाहर नगर के समीप मन्दाकिनी नदी के तट पर स्थित एवं राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय अगस्त्यमुनि से लगे हुए मार्ग की मरम्मत का कार्य आयुष सिंह एवं समूह द्वारा किया गया। साथ ही दीक्षा एवं समूह द्वारा उक्त मार्ग के आस-पास झाड़ी उन्मूलन कार्य किया गया। इसी के साथ दीया एवं समूह द्वारा प्रार्थना स्थल की स्वच्छता का कार्य किया गया।

उन्होंने यह भी कहा कि महिलाओं को विभिन्न कौशलों और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के द्वारा आर्थिक रूप से समृद्ध बनाया जा सकता है।

इस अवसर पर वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी राष्ट्रीय सेवा योजना डॉ० निधि छाबड़ा, कार्यक्रम अधिकारी राष्ट्रीय सेवा योजना डॉ० जितेंद्र सिंह, श्री ताहिर अहमद, श्री संदीप सिंह राणा, श्रीमती शर्मिला देवी इत्यादि कर्मचारी एवं स्वयंसेवी उपस्थित रहे। अंत में स्वयंसेवकों द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी गई।

Comment