कोरोना की बढ़ती संभावना को देखते हुये उत्तराखंड में मॉक ड्रिल आयोजित

कोरोना की बढ़ती संभावना को देखते हुये उत्तराखंड में मॉक ड्रिल आयोजित
कोरोना की बढ़ती संभावना को देखते हुये उत्तराखंड में मॉक ड्रिल आयोजित


 

play icon Listen to this article

कोरोना से निपटने को पर्याप्त संसाधानः डॉ. धन सिंह रावत

मॉक ड्रिल में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र थलीसैंण में मौजूद रहे स्वास्थ्य मंत्री

स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को मजबूत करने को अधिकारियों को दिये दिशा-निर्देश

कोरोना की बढ़ती संभावना को देखते हुये केन्द्र सरकार के निर्देश पर पूरे देश के साथ ही उत्तराखंड में मॉक ड्रिल आयोजित किया गया। प्रदेशभर के अलग-अलग चिकित्सा इकाईयों में आयोजित मॉक ड्रिल में जहां विभागीय अधिकारी शामिल हुये वहीं सूबे के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने अपने विधानसभा क्षेत्र के दूरस्थ विकासखंड के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र थलीसैंण में कोरोना महामारी से निपटने की तैयारियों को परखा, साथ ही उन्होंने विभागीय अधिकारियों को व्यवस्थाएं चौक-चौबंद बनाये रखने के दिशा-निर्देश भी दिये।

कोरोना की बढ़ती संभावना को देखते हुये उत्तराखंड में मॉक ड्रिल आयोजित
कोरोना की बढ़ती संभावना को देखते हुये उत्तराखंड में मॉक ड्रिल आयोजित

उन्होंने कहा कि कोरोना से निपटने के लिये विभाग पूरी तरह तैयार है, विभाग के पास कोरोना महामारी से लड़ने के लिये दवाईयां एवं बचाव के लिये पर्याप्त संसाधन उपलब्ध हैं।

सूबे के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने आज अपने विधानसभा क्षेत्र के दूरस्थ इलाके के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र थलीसैंण पहुंकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना रोकथाम को लेकर आयोजित मॉक ड्रिल में प्रतिभाग किया।

इस दौरान उन्होंने अस्पताल में कोरोना को लेकर की गई तैयारियों का बारीकी से निरीक्षण कर अस्पताल के चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टॉफ को व्यवस्थाएं और बेहतर करने तथा कोरोना महामारी को लेकर अलर्ट मोड में रहने के निर्देश दिये।

उन्होंने अधिकारियों को कहा कि क्षेत्र में बाहर से आने वाले प्रवासियों एवं पर्यटकों पर विशेष नजर रखी जाय। यदि किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्ष्ण पाये जाते हैं तो उनका उपचार के साथ ही सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिये दून मेडिकल कॉलेज में भेजे जाय। मॉक ड्रिल के दौरान डॉ. रावत ने अस्पताल में उपलब्ध आक्सीजन बेड एवं ऑक्सीन कांस्ट्रेंटर की उपलब्धता, एक्स-रे एवं अल्ट्रासाउंड की क्रियाशीलता जांचने के साथ ही 250 एलपीएम ऑक्सीजन प्लांट का भी निरीक्षण किया।

इस दौरान उन्होंने कोरोना मरीजों के उपचार का डेमो भी देख जिस पर उन्होंने विभागीय अधिकारियों को और बेहत्तर ढंग से व्यवस्थाएं संचालित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी राजकीय अस्पतालों में मॉक ड्रिल आयोजित की गई, जिसके निरीक्षण के लिये शासन से लेकर विभाग के उच्चाधिकारियों को अलग-अलग चिकित्सा इकाईयों में जिम्मेदारी सौंपी गई है।

स्वास्थ्य मंत्री ने प्रदेश की जनता को भरोसा दिलाया कि सूबे में कोरोना की किसी भी स्थिति से निपटने के लिये विभाग के पास पर्याप्त संसाधन एवं दवाईयां उपलब्ध हैं। इसलिये आम लोगों को किसी प्रकार की अफवाह पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है लेकिन अपने बचाव के लिये सभी को सावधानी जरूर बरतनी होगी।

इस अवसर पर सीएमओ पौड़ी डॉ. प्रवीन कुमार, प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. अमित पाटिल, पैरामेडिकल एवं टेक्नीकल स्टॉफ के साथ ही स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीण उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here