केन्द्रीय नोडल अधिकारी, जल शक्ति अभियान, अतिश सिंह की अध्यक्षता में ‘‘जल शक्ति अभियान‘‘ के तहत ‘कैच द रेन‘ से संबंधित समीक्षा बैठक आयोजित

केन्द्रीय नोडल अधिकारी, जल शक्ति अभियान, अतिश सिंह की अध्यक्षता में ‘‘जल शक्ति अभियान‘‘ के तहत ‘कैच द रेन‘ से संबंधित समीक्षा बैठक आयोजित
केन्द्रीय नोडल अधिकारी, जल शक्ति अभियान, अतिश सिंह की अध्यक्षता में ‘‘जल शक्ति अभियान‘‘ के तहत ‘कैच द रेन‘ से संबंधित समीक्षा बैठक आयोजित
play icon Listen to this article

केन्द्रीय नोडल अधिकारी, जल शक्ति अभियान, अतिश सिंह की अध्यक्षता में ‘‘जल शक्ति अभियान‘‘ के तहत ‘कैच द रेन‘ से संबंधित समीक्षा बैठक आयोजित की गई। संयुक्त सचिव एमएसएमई मंत्रालय/केन्द्रीय नोडल अधिकारी जल शक्ति अभियान अतिश सिंह एवं वैज्ञानिक सी राष्ट्रीय जल विज्ञान संस्थान रूड़की डॉ. संतोष मुरलीधर पिंगले जल शक्ति अभियान के तहत दिनांक 31 अक्टूबर, 2022 से दो दिवसीय जनपद भ्रमण कार्यक्रम पर रहे।

कार्यक्रम के अन्तर्गत मंगलवार को देर सांय जिला कलक्ट्रेट सभागार में केन्द्रीय नोडल अधिकारी, जल शक्ति अभियान, अतिश सिंह की अध्यक्षता में ‘‘जल शक्ति अभियान‘‘ के तहत ‘कैच द रेन‘ से संबंधित समीक्षा बैठक आयोजित की गई।

ठक में सभी रेखीय विभागों द्वारा वित्तीय वर्ष 2021-22 एवं 2022-23 में अभियान के तहत किये गये निर्माण कार्यों की वित्तीय एवं भौतिक प्रगति का प्रस्तुतिकरण किया गया। संयुक्त सचिव अतिश सिंह ने जल शक्ति अभियान में लगी स्थानीय स्तर की टीम को शुभकामना देते हुए कहा कि टीम द्वारा सुझबुझ से कार्य किया जा रहा है तथा जल संरक्षण को लेकर जनता भी काफी जागरूक है। कहा कि ‘जल शक्ति अभियान‘ के तहत जो भी निर्माण कार्य किये जायें, उनका रख-रखाव जरूरी है। साथ ही वह टिकाऊ और अधिक से अधिक लोगों को लाभ पहंुचाने वाले हों। विकास के लिए सरकारी योजनाओं का लाभ अन्तिम छोर के व्यक्ति तक पहंुचाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जल संरक्षण हेतु अपने सुझाव अन्य को तथा अन्य राज्यों में जाकर कुछ नया भी सीखा जा सकता है।

जिलाधिकारी डॉ. सौरभ गहरवार द्वारा जनपद में वित्तीय वर्ष 2022-23 में ‘‘जल शक्ति अभियान‘‘ के तहत जल संरक्षण को लेकर विभिन्न विभागों द्वारा किये गये निर्माण कार्यों की वित्तीय एवं भौतिक प्रगति से अवगत कराया गया। बताया कि वित्तीय वर्ष में जल शक्ति अभियान के तहत लक्षित संरचनाएं 01 लाख 72 हजार 110 तथा लक्षित जल संचय क्षमता 459.995 लाख ली. रखी गई है, जिसके सापेक्ष 01 लाख 33 हजार 299 संरचनाएं सृजित की जा चुकी हैं तथा 270.225 लाख ली. जल संचय किया गया है।

मुख्य विकास अधिकारी टिहरी गढ़वाल मनीष कुमार ने बताया कि अमृत सरोवर योजना के तहत जनपद के विभिन्न विकासखण्डों के अन्तर्गत 59 अमृत सरोवर बनाये जाने हैं, जिसमें से 53 पूर्ण कर लिये गये हैं। इसी प्रकार जल शक्ति अभियान के तहत जल संरक्षण को लेकर मनरेगा, कृषि विभाग, वन विभाग, स्वजल, लघु सिंचाई एवं नेहरू युवा केन्द्र द्वारा किये गये कार्याे की भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की जानकारी संबंधित विभागीय अधिकारियों द्वारा दी गई।

बैठक में पीडी डीआरडीए प्रकाश रावत, डीडीओ सुनील कुमार, सीएओ अभिलाषा भट्ट, अधिशासी अभियन्ता लघु सिंचाई बृजेश गुप्ता, जिला नेहरू युवा केन्द्र अधिकारी अविनाश सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here