कांग्रेस कार्यालय नई टिहरी में अमर शहीद श्रीदेव सुमन जी की 107वीं जयंती को उत्साह पूर्वक मनाया गया

0
83
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

कांग्रेस कार्यालय नई टिहरी में अमर शहीद श्रीदेव सुमन जी की 107वीं जयंती को उत्साह पूर्वक मनाया गया

गांधीवादी विचारधारा से अभिभूत थे श्री देव सुमन: राकेश राणा

नई टिहरी: जिला कांग्रेस कार्यालय नई टिहरी में अमर शहीद श्रीदेव सुमन जी की 107वीं जन्म जयंती को उत्साह पूर्वक मनाया गया।

उपस्थित जनों ने अमर शहीद श्रीदेव सुमन जी के दिव्य चित्र पर पुष्पांजलि की।
गोष्ठी में वक्ताओं ने सुमन जी की जीवनी पर प्रकाश डाला। वक्ताओं में सबसे पहले जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा,वरिष्ट नेता ज्योति प्रसाद भट्ट और निहाल सिंह नेगी जी ने कहा कि “सामंत शाही के विरोध में सुमन जी को कोई झुका न सका, सुमन जी के विचार हिमालय जैसे उच्च थे, गांधी जी के अनुयाई, और सत्य अहिंसा के पुजारी सुमन जी टिहरी राज शाही के खिलाफ संघर्षरत रहे, सुमन जी को पुरानी टिहरी की जेल में तत्कालीन राजशाही के अत्याचार का शिकार होना पड़ा”

जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा और पूर्व जिला अध्यक्ष शान्ति प्रसाद भट्ट ने कहा”सुमन जी की संघर्षशील जीवनी ही हमारे लिए प्रेरणा है, सुमन जी ने स्वतंत्रता संग्राम और गांधीवादी विचारों से प्रेरणा लेकर टिहरी राजशाही के अत्याचारो के खिलाफ लोगो को लामबंद किया था, और सुमन जी के संघर्ष से ही टिहरी राजशाही का अंत भी हुआ था, किंतु टिहरी के लोगो को सोचना होगा कि जिस राजशाही ने उनके प्राण लिए आज उन्ही के वंशजो को अपना अमूल्य वोट देकर जिता रहे है, इससे अधिक शर्म की बात कुछ नही हो सकती।

पूर्व विधान सभा प्रत्याशी नरेंद्र चंद रमोला और पूर्व प्रमुख विजय गुनसोला तथा पीसीसी डेलीगेट मुशर्रफ अली ने कहा कि आज उसी विचारधारा के लोग श्री देव सुमन जी का गुणगान कर रहें है, जिस विचार धारा ने उनके प्राण लिए थे, सुमन जी को सच्ची श्रद्धांजलि तभी होगी जब उनके नाम से पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार द्धारा स्थापित श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय चम्बा को उसका संपूर्ण दर्जा मिलेगा और टिहरी झील का नाम पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार द्वारा सुमन सागर रखा गया था, उसे यथावत रखा जाय।

शहर कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप पंवार पूर्व शहर कांग्रेस अध्यक्ष देवेंद्र नौडियाल ने सुमन जी की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि “सरकार को सुमन जी के नाम से टिहरी सहित पुरे प्रदेश में “बाल सुमन” नाम से सांस्कृतिक और शैक्षिक कार्यक्रम विद्यालयों में आयोजित करने चाहिए।

महिला कांग्रेस अध्यक्ष आशा रावत और वरिष्ट नेत्री श्रीमती ममता उनियाल जी ने कहा”कि सुमन जी की शाहादत के बाद ही जनता उद्वेलित हुई थीं और टिहरी राजशाही का अंत हो गया था, सुमन जी ने अनेकों कुप्रथाओं सहित राजशाही की नीतियों का पुरजोर विरोध किया था।

इस अवसर पर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा, प्रदेश महामंत्री शान्ति प्रसाद भट्ट, पूर्व विधान सभा प्रत्याशी नरेंद्र चंद रमोला, वरिष्ट नेता ज्योति प्रसाद भट्ट, प्रदेश महामंत्री विजय गुंनसोला, निहाल सिंह नेगी, पूर्व राज्यमंत्री पी सी सी डेलीगेट मुशर्रफ अली, डेलीगेट देवेंद्र नौडियाल,महिला कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती आशा रावत, श्रीमती ममता उनियाल, श्रीमती लक्ष्मी रावत, किशोर सिंह मंद्रवाल, नवीन सेमवाल, दिनेश पंवार, महावीर सिंह चौहान, घनश्याम सिंह पवार, मदन सिंह मिश्रवाण, पूर्ण सिंह खरोला, श्रीमती अनीता, प्रीतम, अब्दुल मतीन, महबूब, महावीर नेगी, कांति उनियाल, रमेश सिंह, बिन्नी पंवार, मनोज रावत आदि उपस्थित रहें।

Comment