ऋषिकेश में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव का लैंप लाइटिंग के रंगारंग अंदाज से शुभारम्भ 

23
ऋषिकेश में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव का लैंप लाइटिंग के रंगारंग अंदाज से शुभारम्भ 
यहाँ क्लिक कर पोस्ट सुनें

ऋषिकेश में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव का लैंप लाइटिंग के रंगारंग अंदाज से शुभारम्भ 

नई टिहरी: ऋषिकेश में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव का लैंप लाइटिंग के रंगारंग अंदाज से शुरू हुआ।

शुक्रवार को मुनि की रेती स्थित जीएमवीएन गंगा रिजॉर्ट में उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद की ओर से आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव 2024 का पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, वन मंत्री सुबोध उनियाल, वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, पर्यटन सचिव सचिन कुर्वे ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया।

ऋषिकेश में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव का लैंप लाइटिंग के रंगारंग अंदाज से शुभारम्भ अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव का आगाज लैंप लाइटनिंग के मुख्य शो से हुआ। जिसके साथ ही शंखनाद और मंत्र उच्चारण से महोत्सव में आए योग साधकों ने विभिन्न योग क्रियो का मंथन किया। इसी के साथ शिव ओम नृत्य प्रस्तुति ने सभी का मन मोह लिया।

ऋषिकेश में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव का लैंप लाइटिंग के रंगारंग अंदाज से शुभारम्भ प्रदेश को ड्रग फ्री करने के लिए योग का होना बहुत जरूरी: पर्यटन मंत्री सतपाल

अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव में पहुंचे पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि प्रदेश को ड्रग फ्री करने के लिए योग का होना बहुत जरूरी है। इसी के साथ उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव में आई तमाम योग संस्थानों जैसे इशा, आर्ट ऑफ लिविंग, योग मंदिरम, म्यूजिक थेरेपी और कबीर कैफे बैंड का स्वागत किया।

साथ ही उन्होंने वैलनेस सेंटर का हब बन रहे ऋषिकेश को इंटरनेशनल डेस्टिनेशंस के तौर पर विकसित करने का संकल्प लिया। मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि ऋषिकेश को इंटरनेशनल डेस्टिनेशंस विकसित करने के लिए इंटरनेशनल एयरपोर्ट का होना बहुत जरूरी है जो की तमाम विदेश के योग साधकों को अच्छी कनेक्टिविटी के साथ योग नगरी ऋषिकेश और चार धाम यात्रा से सीधे जोड़ेगा।

योग की जननी है हमारा प्रदेश: वन मंत्री सुबोध

वन मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि योग की जननी है हमारा प्रदेश, जिसका उदाहरण चौरासी कुटिया है। उन्होंने कहा कि हमारे योग नगरी ऋषिकेश में देश दुनिया से आए तमाम पर्यटक यहां के प्राकृतिक सौंदर्य और यहां की खूबसूरत घाटों का आनंद लेकर अपने आप को धन्य समझते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजन से प्रदेश के पर्यटन विभाग को बढ़ावा मिलता है। उन्होंने कहा कि हमारा प्रदेश धार्मिक, योगिग,ट्रैकिंग और वैलनेस जैसी कई सुविधाओं से परिपूर्ण है।

इसी क्रम में कार्यक्रम में पहुंचे वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने योग साधकों का स्वागत एवं अभिनंदन करते हुऐ कहा हम सभी का एकजुट होना ही योग है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत विश्वभर में योग का संदेश दे रहा है। उन्होंने कहा कि सकारात्मक ऊर्जा देने के साथ योग शरीर के विकार को दूर कर विकास यात्रा की ओर ले जाता है। योग न पुरातन है, न नूतन है। योग सनातन है जो पहले भी था, अब भी है और हमेशा रहेगा। पूरी दुनिया भारत की सनातन विधियां और परपंराओं को अपना रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव से विभिन्न देशों में योगनगरी की छवि विकसित होगी।

कार्यक्रम से पूर्व मॉर्निंग योगा सेशन में सुखबधानंद द्वारा आर्ट ऑफ़ लीविंग की मोटिवेशनल स्पीच से शुरूआत हुई। संध्या आरती होने के बाद कबीर कैफे बैंड और अंजू मिश्रा के कत्थक शिव ओम डांस ने सभी का मन मोह लिया।

महोत्सव में लैंप लाइट शो रहा आकर्षण का केंद्र

15 से 21 मार्च तक गंगा रिजॉर्ट में आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव के पहले दिन सांध्यकालीन गंगा आरती के दौरान लैंप लाइट शो आकर्षण का केंद्र रहा। लैंप लाइटिंग के माध्यम से साधक और योगाचार्यों को भगवान शिव, ऊं, योग की विभिन्न क्रियाएं, गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ, बदरीनाथ समेत विभिन्न कलाकृतियों ने साधक और योगाचार्यों को अपनी ओर आकर्षित किया।

निशुल्क रजिस्ट्रेशन व्यवस्था भी है उपलब्ध

सात दिवसीय अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव में प्रतिभाग करने के लिए निशुल्क रजिस्ट्रेशन व्यवस्था भी उपलब्ध है । मॉर्निंग 4:30 और इवनिंग 6:00 योगा सेशन के दौरान रेजिस्ट्रेशन स्टॉल से आप अपने मोबाइल फोन से क्यूआर कोड को स्कैन कर कर रजिस्ट्रेशन स्टॉल से योगा मैट और टोपी प्राप्त कर सकते है।

Comment