उप जिला चिकित्सालय मसूरी में व्याप्त लापरवाही/अव्यवस्थाओं को लेकर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को कारण बताओ नोटिस

कोविड- 19 वैक्सीन (COVISHIELD) की 90,500 डोज स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा उत्तराखंड को मिली: स्वास्थ्य सचिव
कोविड- 19 वैक्सीन (COVISHIELD) की 90,500 डोज स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा उत्तराखंड को मिली: स्वास्थ्य सचिव


 

play icon Listen to this article

28 चिकित्साधिकारियों की तैनाती के सापेक्ष मात्र 05 चिकित्साधिकारी दिखे उपस्थित

मुख्य चिकित्सा अधीक्षक बिना अवकाश स्वीकृति प्राप्त किये मुख्यालय से कर गये बाहर प्रस्थान

उप जिला चिकित्सालय मसूरी में व्याप्त लापरवाही/अव्यवस्थाओं को लेकर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को सचिव उत्तराखण्ड शासन डॉ० आर० राजेश कुमार ने कारण बताओ नोटिस भेजकर जबाब तलब किया है।

महानिदेशक, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, देहरादून, उत्तराखण्ड को लिखे पत्र में उन्होंने कहा है कि अधोहस्ताक्षरी द्वारा विगत दिनांक 14 जनवरी, 2023 (शनिवार) की पूर्वान्ह में उप जिला चिकित्सालय, मसूरी का निरीक्षण किया गया, जिसकी सूचना आपको भी दी गयी थी, परन्तु खेद का विषय है कि अधोहस्ताक्षरी के निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सा अधीक्षक एवं अन्य चिकित्साधिकारी तथा अधिकांश मिनिस्ट्रियल स्टाफ अनुपस्थित था तथा काफी स्टाफ पिछले काफी दीर्घ समय से अनुपस्थित चल रहे थे, जिसकी कोई स्वीकृति इत्यादि उपस्थिति रजिस्टरों पर नहीं थी जानकारी से संज्ञान में यह भी आया कि बिना अवकाश स्वीकृति के द्य मुख्य चिकित्सा अधीक्षक मुख्यालय से बाहर अपने किसी निजी कार्य से गये हुए हैं अतः निम्नलिखित बिन्दुओं के संबंध में कृपया स्थिति स्पष्ट करेंः-

1. क्या संबंधित मुख्य चिकित्सा अधीक्षक द्वारा आपसे अवकाश स्वीकृति हेतु कोई आवेदन किया गया? 2. संबंधित चिकित्सक द्वारा क्या मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, देहरादून को अवकाश की सूचना दी गयी और उनके द्वारा क्या आपको कोई सूचना दी गयी यदि नही तो संबंधित का भी स्पष्टीकरण प्राप्त कर प्रस्तुत करें? 3. उप जिला चिकित्सालय में अधीनस्थ अनुपस्थित चिकित्साधिकारियों का स्पष्टीकरण प्राप्त कर अधोहस्ताक्षरी को भेजें।

4. उक्त चिकित्सालय में संबंधित मिनिस्ट्रियल स्टाफ की अनुपस्थिति के संबंध में उनका स्पष्टीकरण प्राप्त करते हुए प्रस्तुत करें। 5. इसके अतिरिक्त बिना शासन की अनुमति के 06 चिकित्साधिकारी एक साथ पी०जी० अवकाश पर किसकी अनुमति से गये हैं, इन पर कर्मचारी आचरण नियमावली का कौन-सा बिन्दु लागू होता है, उसके अनुसार कार्यवाही करते हुए प्रस्तुत करें।

6. चिकित्सालय की साफ सफाई का ठेका लेने वाली फर्म का गंदगी के संबंध में स्पष्टीकरण प्राप्त करें। 7. ऑपरेशन थियेटर की हालत ठीक न होने के संबंध में संबंधित का स्पष्टीकरण प्राप्त कर प्रस्तुत करें।

7. जननी सुरक्षा योजना / खुशियों की सवारी तथा अटल आयुष्मान कार्ड योजना की धीमी प्रगति के संबंध में संबंधित का स्पष्टीकरण प्राप्त कर प्रस्तुत करें।
अतः आपसे अपेक्षा की जाती है कि संबंधितों का स्पष्टीकरण प्राप्त करते हुए अपनी स्पष्ट आख्या / मंतव्य सहित अधोहस्ताक्षरी के समक्ष अविलम्ब प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें।

कारण बताओ नोटिस

इसके अलावा मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, उप जिला चिकित्सालय, मसूरी डॉ० यतेन्द्र सिंह को भेजे कारण बताओ नोटिस में कहा गया है कि उपरोक्त विषयक अधोहस्ताक्षरी द्वारा विगत दिनांक 14 जनवरी, 2023 की पूर्वान्ह में उप जिला चिकित्सालय, मसूरी का निरीक्षण किया गया, जिसकी सूचना आपको भी प्रदान करायी गयी थी, परन्तु खेद का विषय है कि निरीक्षण के दौरान आप अनुपस्थित रहे तथा आपके विषय में जानकारी करने पर पाया गया कि आप मुख्यालय से बाहर अपने किसी निजी कार्य से गये हुए हैं, परन्तु जिस हेतु आपके द्वारा कोई अवकाश विषयक सूचना / आवेदन पत्र इत्यादि मुख्य चिकित्सा अधिकारी अथवा महानिदेशक, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग को नहीं दिया गया, अर्थात् बिना स्वीकृति प्राप्त किये आप मुख्यालय से बाहर प्रस्थान कर गये, जिसके कारण अधोहस्ताक्षरी को विभिन्न योजनाओं की समुचित जानकारी प्राप्त नहीं हो सकी तथा आपकी अनुपस्थिति में अधिकांश चिकित्साधिकारी तथा मिनिस्ट्रियल स्टाफ अघोषित रूप से निरन्तर अवकाश पर चल रहा था. यह उपस्थिति रजिस्टरों के अवलोकन से संज्ञान में आयी तथा निरीक्षण के दौरान उक्त स्टाफ ड्यूटी से नदारद दिखा। कदाचित् इस स्थिति के कारण उपस्थित मरीजों / तीमारदारों में अत्यधिक आक्रोश / नाराजगी देखी गयी और उनको समुचित उपचार मिलता दृष्टिगोचर नहीं हुआ। यह स्थिति अत्यन्त चिन्ताजनक है तथा इस कृत्य हेतु आपकी घोर निन्दा / भर्त्सना की जाती है।

निरीक्षण के दौरान संज्ञान में आया कि 28 चिकित्साधिकारियों की तैनाती के सापेक्ष मात्र 05 चिकित्साधिकारी उपस्थित दिखे और एक चिकित्सक अटैच, एक मेडिकल अवकाश पर तथा एक साथ 06 चिकित्साधिकारी पी०जी० स्टडी पर गये हैं, बाकी चिकित्साधिकारी उपस्थित नहीं थे, जिनमें कई दिन से अनुपस्थित चिकित्साधिकारी के नाम मुख्यतः डॉ० यतेन्द्र सिंह, डॉ० वीरेन्द्र सिंह पांगती, डॉ० बीना सिंह, डॉ० शैली सिंह (सीसीएल अवकाश परा ) डॉ० दिशा धारीवाल हैं। जबकि मिनिस्ट्रियल स्टाफ रजिस्टरों के निरीक्षण से संज्ञान में आया कि कई मिनिस्ट्रियल स्टाफ पिछले कई-कई दिनों से बिना किसी आवेदन / स्वीकृति के अवकाश पर चल रहे हैं, जिनमें श्री आशीष सवाई, राहुल रावत, अनिल कुमार, अनुपस्थित रहे तथा रजिस्टर के क्रमांक-08 14 15 16 व 17 पर अंकित कार्मिकों के संबंध में स्थिति स्पष्ट नहीं थी।

जननी सुरक्षा योजना/खुशियों की सवारी योजना का नहीं मिल पा रहा लाभ

इसके अतिरिक्त उपस्थित रोगियों / तीमारदारों से वार्ता के क्रम में उनके द्वारा कई शिकायतें की गयीं। उन्होंने बताया कि उन्हें जननी सुरक्षा योजना / खुशियों की सवारी योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। इसके अतिरिक्त आयुष्मान भारत कार्ड भी मात्र 65 बनाये गये हैं और वह भी अगस्त, 2022 के बाद बने हैं। रोगियों को निःशुल्क पैथोलॉजिकल सेवा उपलब्ध कराने वाली राज्य की अनुबंधित लेव सेवा चन्दन लैब भी बंद मिली तथा ऑपरेशन थियेटर भी अच्छी स्थिति में नहीं मिला अपितु साफ सफाई / गंदगी प्रत्येक स्थान पर दृष्टिगोचर हुई।

उल्लेखनीय है कि मसूरी एक पर्यटन नगरी है, जहाँ आने वाले पर्यटकों का अत्यधिक दबाव है तथा समय-समय पर यहाँ वीआईपी० / वीवीआईपी मूवमेंट भी होता रहता है, जिसके कारण मसूरी उप जिला चिकित्सालय को समस्त सुविधाओं से लैस किया जाना नितान्त अत्यावश्यक है, सरकार इस हेतु निरन्तर प्रयासरत् भी है, तथा समय-समय पर श्री गणेश जोशी, मा0 मंत्री, उत्तराखण्ड सरकार द्वारा भी निरीक्षण करते हुए आदेश जारी किये गये है, परन्तु आपके प्रयासों से कहीं ऐसा नहीं लग रहा है कि आप इस हेतु अग्रसर हैं, अपितु आपके स्तर पर निरन्तर घोर लापरवाहियाँ की जा रहीं है, अतः आप उक्त के संबंध में अपना स्पष्टीकरण लौटती डाक से तत्काल प्रस्तुत करें, जिसके संतोषजनक न होने तक आपका वेतन आहरण रोका जाता है तथा आपसे यह भी अपेक्षा की जाती है कि आप अपने अधीनस्थों का स्पष्टीकरण लेकर उनके विरूद्ध की गयी कृत् कार्यवाही से अवगत करायें, अन्यथा की स्थिति में आपको प्रतिकूल प्रविष्टि भी दिया जाना अपरिहार्य होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here