उत्तराखण्ड के ऊंचाई वाले इलाकों में मौसम का दूसरा हिमपात, पर्वतरानी मसूरी व धनोल्टी बर्फ से पटे

उत्तरकाशी-गंगोत्री धाम सहित ऊंचाई वाले इलाकों में भी बर्फबारी
उत्तरकाशी-गंगोत्री धाम सहित ऊंचाई वाले इलाकों में भी बर्फबारी


 

play icon Listen to this article

उत्तरकाशी-गंगोत्री समेत चारों धामों में बर्फबारी

गजा के निकटवर्ती ऊंचाई वाले क्षेत्रों में मौसम की पहली बर्फबारी

बर्फबारी के कारण कई मोटर मार्ग यातायात हेतु अवरुद्ध

उत्तराखण्ड में ऊंचाई वाले इलाकों में मौसम का दूसरा हिमपात हुआ है। पर्वतरानी मसूरी, बुराँसखंडा और धनोल्टी में इस वर्ष का दूसरा हिमपात हुआ, जबकि गजा के निकटवर्ती ऊंचाई वाले क्षेत्रों में मौसम की पहली बर्फबारी हुई है। उत्तरकाशी-गंगोत्री धाम सहित ऊंचाई वाले इलाकों में भी बर्फबारी हुई है।

राष्ट्रीय राजमार्ग डोईवाला खंड से संबंधित- रा.मा. संख्या 707ए (त्यूनी- चकराता- मसूरी) किमी. 53 से कि.मी. 73 (कोटी कनासर से लोखंडी) के मध्य बर्फबारी के कारण यातायात हेतु अवरुद्ध है।

वर्तमान में 02 जे.सी.बी. मशीन कार्यस्थल पर कार्यरत है, बर्फबारी रुकने पर मार्ग को पूर्ण रूप से यातायात हेतु खोल दिया जायेगा। एनएच 707ए पर सफाई का कार्य चल रहा है। टिहरी के धनोल्टी में सीजन की पहली बर्फबारी होने से लोगों में खुशी है। जिला प्रशासन ने बर्फबारी को देखते हुए संबंधित अधिकारियों को अलर्ट रहने के दिए निर्देश हैं।

एनएच 707- काणाताल से सुवाखोली में हल्की बर्फबारी हुई हैं। मार्ग पर 04 जेसीबी हैं। मार्ग यातायात हेतु सुचारू है। नैनबाग क्षेत्र में मार्ग खुले हैं। प्रतापनगर क्षेत्र में मार्ग खुले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here