आयुक्त गढ़वाल मण्डल की अध्यक्षता में टिहरी डैम पुर्नवास से संबंधित शासन द्वारा गठित समिति की बैठक आयोजित

140
आयुक्त गढ़वाल मण्डल की अध्यक्षता में टिहरी डैम पुर्नवास से संबंधित शासन द्वारा गठित समिति की बैठक आयोजित
आयुक्त गढ़वाल मण्डल की अध्यक्षता में टिहरी डैम पुर्नवास से संबंधित शासन द्वारा गठित समिति की बैठक आयोजित

आयुक्त गढ़वाल मण्डल की अध्यक्षता में टिहरी डैम पुर्नवास से संबंधित शासन द्वारा गठित समिति की बैठक आयोजित

तहसील दिवस के पश्चात आयुक्त, गढ़वाल मण्डल ने किया तहसील नरेन्द्रनगर का निरीक्षण

आयुक्त गढ़वाल मण्डल सुशील कुमार की अध्यक्षता में आज तहसील नरेन्द्रनगर में टिहरी डैम पुर्नवास से संबंधित शासन द्वारा गठित समिति की बैठक आयोजित की गई।

बैठक में ज्वाईंट इन्सपेक्शन कमेटी में प्रस्तावित संस्थाओं के विशेषज्ञों की रिपोर्ट का अध्ययन किया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि पयालगांव की समस्या को देखते हुए उसके विस्थापन की कार्यवाही हेतु प्रस्ताव टीएचडीसी को भेजा जाय।

गढ़वाल आयुक्त द्वारा पुर्नवास, राजस्व एवं टीएचडीसी अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि संयुक्त रूप से सोमवार को तिवाड़गावं का निरीक्षण करना सुनिश्चित कर लें।

निदेशक पुर्नवास/जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल डाॅ. सौरभ गहरवार द्वारा अवगत कराया गया कि पुर्नवास से संबंधित मामले निरन्तर निस्तारित किये जा रहे हैं।

कहा कि ज्वाईंट इन्सपेक्शन कमेटी (जेईसी) के स्तर से स्थानीय स्तर पर माॅनिटरिंग हेतु मानक तैयार कर तकनीकी एजेंसी नामित कर दी जाये, तो पुर्नवास के मामलों को निस्तारित करने में सुविधा हो जायेगी। जिलाधिकारी द्वारा पुर्नवास नीति के तहत कट ऑफ डेट से भी अवगत कराया गया।

बताया गया कि शिवालिक नगर में पुर्नवास को 86 एकड़ भूमि मिली है, टीम सीमांकन हेतु भेजी जा रही है। कहा कि वहां पर नदी है, जो बैन हो चुकी है, उसमें सुरक्षात्मक कार्य होने के बाद ही आंवटन की कार्यवाही की जायेगी।

इस अवसर पर सीडीओ मनीष कुमार, अधिशासी निदेशक टीएचडीसी एल.पी. जोशी, अधीक्षण अभियन्ता पुर्नवास आर.के.गुप्ता, अधिशासी अभियन्ता पुर्नवास सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

तहसील दिवस के पश्चात आयुक्त, गढ़वाल मण्डल ने किया तहसील नरेन्द्रनगर का निरीक्षण

आयुक्त, गढ़वाल मण्डल सुशील कुमार द्वारा आज तहसील दिवस के पश्चात तहसील नरेन्द्रनगर का निरीक्षण किया गया।

इस दौरान गढ़वाल आयुक्त द्वारा वसूली, स्टाम्प रजिस्ट्री, राजस्व वाद, फौजदारी वाद, खतौनी पुनरीक्षण, सीएम सन्दर्भ, ऑडिट आपत्तियां, दैवीय आपदा राहत राशि वितरण, सीएम राहत सहायता, सेवा का अधिकार आदि की जानकारी ली गई। साथ ही उच्चाधिकारियों द्वारा तहसील का कम निरीक्षण किये जाने पर नियमित निरीक्षण करने के निर्देश दिये गये। उनके द्वारा आरसीएस रजिस्टर का बारीकी से अवलोकन किया गया। लोन डिमान्ड कम होने पर सीआर आॅफिस से भी मिलान करने को कहा गया।

गढ़वाल आयुक्त ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा स्कूलों में ‘‘अपणु स्कूल अपणु प्रमाण‘‘ के तहत स्कूली बच्चों को निर्गत किये जा रहे प्रमाण पत्र को अच्छी पहल बताते हुए अन्य जिलों में भी इस तरह की शुरूआत की जायेगी। इस दौरान गढ़वाल आयुक्त द्वारा भूलेख अभिलेखागार का भी निरीक्षण किया गया।

मुख्य विकास अधिकारी मनीष कुमार ने बताया कि सेवा का अधिकार एवं सीएम हेल्पलाइन से संबंधित शिकायतों की जिलाधिकारी महोदय द्वारा स्वयं प्रतिदिन समीक्षा की जा रही है।

उपजिलाधिकारी नरेन्द्रनगर देवेन्द्र नेगी द्वारा अवगत कराया गया कि खतौनी पुनरीक्षण का कार्य रोस्टर वाइज हो रहा है। कहा कि रजिस्ट्री की मूल प्रति आॅनलाइन प्राप्त नही हो रही है, जिससे प्रक्रिया में विलम्ब हो रहा है।
इस मौके पर तहसीलदार नरेन्द्रनगर सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Comment